Saturday, 16 December 2017, 8:59 AM

तीज एवं त्यौहार

भोले बाबा से पाएं, जीवनसाथी की समृद्धि का वर

Updated on 15 December, 2017, 6:30
शुक्रवार दि॰ 15.12.17 को पौष शुक्ल त्रयोदशी के उपलक्ष में शुक्र प्रदोष पर्व मनाया जाएगा। हर माह के कृष्ण व शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि परमेश्वर शिव को समर्पित है। त्रयोदशी सभी प्रकार के दोषों का शमन करती है इसी कारण इसे प्रदोष कहते हैं। सूर्यास्त के बाद रात्रि के... आगे पढ़े

काली गाय को खिलाई गई ये चीज करेगी हर बाधा से मुक्त

Updated on 14 December, 2017, 6:30
गुरुवार दि॰ 14.12.17 पौष कृष्ण द्वादशी पर कामधेनु रूप में गौ पूजन करना श्रेष्ठ रहेगा। शास्त्रों में कामधेनु सबका पालन करने वाली कही गयी है। जैसे देवों में विष्णु, सरोवरों में समुद्र, नदियों में गंगा, पर्वतों में हिमालय, भक्तों में नारद, पुरियों में कैलाश, क्षेत्रों में केदार श्रेष्ठ है, वैसे... आगे पढ़े

सफला एकादशी : तिजोरी में रखें ये चीज, भौतिक सुखों की होगी प्राप्ति

Updated on 13 December, 2017, 6:30
बुधवार दि॰ 13.12.17 पौष कृष्ण एकादशी पर सफला एकादशी मनाई जाएगी। इस एकादशी के देव श्रीनारायण हैं। जैसे नागों में शेषनाग, पक्षियों में गरुड़, ग्रहों में चंद्रमा, यज्ञों में अश्वमेध व देवों में श्रीहरि श्रेष्ठ हैं, अतः व्रतों में एकादशी श्रेष्ठ है। इस दिन नरयाण के निमित अगरबत्ती, नारियल, सुपारी,... आगे पढ़े

जगन्नाथ रथयात्रा लुधियाना में 17 दिसम्बर को

Updated on 12 December, 2017, 6:30
भारतीय जनमानस की भक्ति के प्राणाधार श्री कृष्ण का सबसे दयालु स्वरूप भगवान जगन्नाथ है। भगवान जगन्नाथ अर्थात भक्त के नाथ, जगत के नाथ दयालु भगवान। इस स्वरूप में विशाल नेत्रों के साथ बांहें पसारे भगवान जगन्नाथ भक्त को अपने आलिंगन में लेने के लिए उसे पुकार रहे हैं। भगवान... आगे पढ़े

इन मंत्रों का करें उच्चारण, महाकाली करेंगी शत्रुओं का सफाया

Updated on 11 December, 2017, 6:30
सोमवार दि॰ 11.12.17 को पौष कृष्ण नवमी व उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र के होने पर संयुक्त रूप से शिव व काली पूजन करना श्रेष्ठ रहेगा। कृष्ण पक्ष काली व नवमी तिथि शक्ति को समर्पित मानी जाती है। काली दसमहाविद्या में से प्रथम महाविध्या हैं व तंत्र शास्त्र नें सभी दसमहाविद्याओं को... आगे पढ़े

हनुमान अष्टमी: घर लाएं ये तस्वीर, हर परेशानी हो जाएगी छू मंतर

Updated on 10 December, 2017, 6:45
10 दिसंबर रविवार को पौष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी पर हनुमान अष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। इस रोज घर में हनुमान जी का विशेष स्वरूप लाने से उनकी कृपा बरसेगी और हर परेशानी हो जाएगी छू मंतर। हनुमान जी के चित्रपट का महत्व ध्यान में रखते हुए वास्तु... आगे पढ़े

शनि-मंगल के कुप्रभाव से बचने हेतु 9 दिसंबर को करें ये उपाय

Updated on 9 December, 2017, 6:30
आज शनिवार दि॰ 09.12.17 पौष कृष्ण सप्तमी व मघा नक्षत्र के उपलक्ष में हनुमान जी के विचित्र वीर स्वरूप का पूजन करना श्रेष्ठ रहेगा। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शनि व मंगल दोनों की गिनती पाप ग्रहों में होती है। कुंडली में इनकी अशुभ स्थिति व्यक्ति को परेशानियों में डाल देती है।... आगे पढ़े

हैप्पी लव लाइफ के लिए करें ये उपाय, रिश्ता बनेगा खूबसूरत

Updated on 8 December, 2017, 6:30
शुक्रवार दि॰ 08.12.17 को पौष कृष्ण षष्ठी व अश्लेषा नक्षत्र होने के कारण देवी ललिता का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। देवी ललिता दस महाविद्याओं में से एक हैं। देवी भागवत के अनुसार देवी ललिता को ही आद्या शक्ति सती कहा जाता है। पिता दक्ष द्वारा अपमान से आहत होकर जब मां... आगे पढ़े

लक्ष्मी-नारायण के इस चित्र का पूजन भरेगा खाली तिजोरी और झोली

Updated on 7 December, 2017, 6:45
गुरुवार दि॰ 07.12.17 पौष कृष्ण पंचमी पर गुरु पुष्य योग होने के कारण श्रीलक्ष्मी-नारायण का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। पुष्य नक्षत्र को तिष्य व अमरेज्य भी कहते हैं। अमरेज्य का अर्थ है, देवताओं द्वारा पूजित। बृहस्पति को अत्यधिक प्रिय शनि का नक्षत्र पुष्य नक्षत्रराज कहा जाता है। विवाह को छोड़कर इसमें... आगे पढ़े

गणेश चतुर्थी: इस मुहूर्त में चंद्रमा को दें अर्घ्य, मौज-मस्ती से गुजरेगा आने वाला कल

Updated on 6 December, 2017, 6:30
बुधवार दी॰ 06.12.17 पौष कृष्ण चतुर्थी के उपलक्ष्य में बुधवारीय संकष्टी चतुर्थी मनाई जाएगी। कृष्ण पक्ष को आने वाली चौथ को संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है। पौराणिक मतानुसार कालांतर में संकटों से घिरे देवगण साहयता हेतु महेश्वर के पास गए। इस पर महेश्वर ने कार्तिकेय व गणेश की श्रेष्ठता के... आगे पढ़े

चौराहे पर फेंके ये चीज, कोर्ट केस में मिलेगी जीत

Updated on 5 December, 2017, 6:30
 मंगलवार दि॰ 05.12.17 संध्या पर तृतीया, आर्द्रा नक्षत्र व शुभ योग होने के निमित देवी त्रिपुर भैरवी का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। त्रिपुर-भैरवी छठी महाविद्या हैं। देवी त्रिपुर-भैरवी त्रिलोक में भय व पाप के विनाश हेतु स्थापित हैं। भैरवी ही तीनों लोकों के अंतर्गत विध्वंस की शक्ति हैं। देवी ही महेश्वर... आगे पढ़े

पौष मास में सूर्य पूजन से मान-यश में होगी वृद्धि, मिलेगी तरक्की

Updated on 4 December, 2017, 6:30
सोमवार दिनांक 04.12.17 को ज्योतिषशास्त्र के पुर्णिमांत पंचांग प्रणाली के अनुसार पौष माह प्रारंभ होगा। विक्रम संवत व हिंदू पंचांग के अनुसार साल के दसवें महीने को पौष माह कहा जाता है। पौष मास में सूर्य की उपासना का विशेष महत्व माना जाता है। इस मास में सूर्य देव की... आगे पढ़े

त्रिपुर भैरवी जयंती : महाकाली की छाया से प्रकट हुई देवी त्रिपुर भैरवी

Updated on 3 December, 2017, 6:30
रविवार दिनांक 03.12.17 को मार्गशीर्ष पूर्णिमा के उपलक्ष्य में त्रिपुर भैरवी जयंती मनाई जाएगी। मूल प्रकृति आद्या शक्ति के दश महाविद्या की श्रेणी में देवी त्रिपुर-भैरवी छठी महाविद्या कहलाती हैं। शब्द 'त्रिपुर' का अर्थ है, त्रिलोक अर्थात स्वर्ग, पृथ्वी तथा पाताल व शब्द 'भैरवी' का अर्थ है भय का विनाश।... आगे पढ़े

कार्तिगई दीपम पर्व : संध्या के समय काली गाय को खिलाएं ये चीज

Updated on 2 December, 2017, 6:30
शनिवार दी॰ 02.12.17 मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्दशी व कृतिका नक्षत्र के उपलक्ष में शनिवारीय कार्तिगई दीपम पर्व मनाया जाएगा। हर महीने मनाया जाने वाला कार्तिगई दीपम दक्षिण संस्कृति का सबसे प्राचीन पर्व माना जाता है। कार्तिगई दीपम पर्व की उत्पत्ति का मूल सूर्य का नक्षत्र कृतिका है। ज्योतिषशास्त्र में अग्निदेव को... आगे पढ़े

शुक्र प्रदोष : ये है व्रत विधि, कथा एवं पूजन मुहूर्त

Updated on 1 December, 2017, 6:30
शुक्रवार दिनांक 01.12.17 को मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के उपलक्ष में शुक्र प्रदोष पर्व मनाया जाएगा। प्रदोष हर माह में दो बार अर्थात शुक्ल या कृष्ण पक्ष की तेरस को मनाया जाता है। मूलतः हर माह की त्रयोदशी तिथि परमेश्वर शिव को समर्पित है। शब्द "प्रदोष"... आगे पढ़े

जानमाल की रक्षा हेतू आज बन रहे विशेष योग में करें पूजन

Updated on 30 November, 2017, 6:30
गुरुवार दी॰ 30.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल द्वादशी पर मत्स्य द्वादशी पर्व मनाया जाएगा। कृत्यकल्पतरु व हेमाद्रि के व्रतखण्ड, कृत्यरत्नाकर तथा वराह व ब्रह्म पुराण आदि शास्त्रों के अनुसार मार्गशीर्ष शुक्ल ग्यारस के उपवास को पूर्ण करने के बाद द्वादशी को मंत्र सहित मिट्टी लाई जाती है व उसे आदित्य को विधिपूर्वक... आगे पढ़े

मोक्षदा एकादशी: इस विधि से करें पूजन और व्रत, ये है पारण समय

Updated on 29 November, 2017, 6:30
पितरों का उद्घार करने व सभी पातकों का हरण करने के लिए करें मोक्षदा एकादशी का व्रत मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष में किए जाने का विधान है। ये एकादशी मोक्षप्रदायिणी है इसी कारण यह मोक्षदा नाम से प्रसिद्घ है। इस वर्ष यह व्रत 30 नवम्बर को किया जाएगा। भगवान... आगे पढ़े

आज करें ये महा टोटका, बढऩे लगेगी धन-संपत्ति

Updated on 28 November, 2017, 6:30
आज मंगलवार दि॰ 28.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल दशमी को भगवान विष्णु के दशावतार का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। वैसे तो हर माह की दशमी भगवान विष्णु को दशहरे के रूप में समर्पित है परंतु मार्गशीर्ष शुक्ल दशमी के बारे में कहा गया है शुद्धा, विद्या व नियम आदि का निर्णय यथापूर्व... आगे पढ़े

सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

Updated on 27 November, 2017, 6:30
सोमवार दि॰ 27.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल अष्टमी पर सोम दुर्गाष्टमी पर्व मनाया जाएगा। भविष्य पुराण के उत्तर-पूर्व में दुर्गाष्टमी पूजन हेतु श्रीकृष्ण व युधिष्ठिर का संवाद है जिसमें दुर्गाष्टमी पूजन का स्पष्ट वर्णन है। दुर्गाष्टमी पूजन प्रत्येक युग, कल्पों व मन्वंतरों में किया जाता था। पौराणिक मतानुसार दुर्गम राक्षस के... आगे पढ़े

भानु सप्तमी पर होगा गरीबी का सफाया

Updated on 26 November, 2017, 6:30
आज रविवार दि॰ 26.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी के उपलक्ष्य में भानु सप्तमी पर्व मनाया जाएगा। रविवार के दिन सप्तमी तिथि के संयोग से भानु सप्तमी नामक विशेष पर्व का सृजन होता है। सनातन संस्कृति व पौराणिक ग्रंथों में भानु सप्तमी को अत्यधिक शुभ माना गया है। इस दिन सूर्यदेव के... आगे पढ़े

चंपा षष्ठी : पूजन-व्रत व उपाय से महादेव को करें प्रसन्न, ग्रह पीड़ा का होगा अंत

Updated on 24 November, 2017, 6:30
शुक्रवार दी॰ 24.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल षष्ठी के उपलक्ष में चंपा षष्ठी व बैंगन छठ पर्व मनाया जाएगा। यह पर्व महादेव के मार्तंडाय-मल्लहारी स्वरूप को समर्पित है। पौराणिक किवंदीती के अनुसार महादेव ने मणि-मल्ह दैत्य भाइयों से छह दिनों तक खंडोबा नामक स्थान पर युद्ध करके चंपा षष्ठी पर दोनों... आगे पढ़े

विवाह पंचमी : पूरी होगी सुंदर जीवनसाथी पाने की इच्छा, करें उपाय

Updated on 23 November, 2017, 6:45
गुरुवार दी॰ 23.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी को विवाह पंचमी पर्व मनाया जाएगा। पौराणिक मतानुसार इस तिथि को श्रीराम व जनक नंदिनी सीता का विवाह हुआ था। श्रीरामचरितमानस में गोस्वामी तुलसीदास जी के अनुसार राजा जनक ने सीता के विवाह हेतु स्वयंवर रचाया। सीता के स्वयंवर में आए सभी राज्य परतिनिधि... आगे पढ़े

पारिवारिक सुख पाने हेतु उत्तम है अाज का दिन, किचन में छुपकार रखें ये चीज

Updated on 22 November, 2017, 6:30
बुधवार दी॰ 22.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल चतुर्थी पर विनायक चतुर्थी का पर्व मनाया जाएगा। भविष्य पुराण, चतुर्वर्ग चिंतामणि व कृत्य-कल्पतरु शास्त्रों ने इसे गणपति चतुर्थी कहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गणेश जी चतुर्थी तिथि के स्वामी व केतु ग्रह के अधिपति हैं। मोक्षकारक ग्रह केतु मायावी ग्रह राहु से विरोधाभास... आगे पढ़े

मार्गशीर्ष का मंगलवार, शत्रुओं पर काबू पाकर शान से जीने के लिए करें उपाय

Updated on 21 November, 2017, 6:30
मंगलवार दी॰ 21.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल तृतीया व मूल नक्षत्र होने के कारण देवी रक्तदंतिका का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। महादेवी का रक्तदंतिका स्वरूप मूल रूप से आद्या शक्ति जगदंबिका का तामसिक रूप है। रक्तदंतिका का अर्थ है जिस देवी के दांत खून से सने हैं। रक्तदंतिका स्वरूप साहस, शौर्य, बल,... आगे पढ़े

चंद्र दर्शन: जल में अपनी छाया देखने से मिलेगी मानसिक विकारों से मुक्ति

Updated on 20 November, 2017, 6:15
सोमवार दि॰ 20.11.17 को मार्गशीर्ष शुक्ल द्वितीय पर चंद्र दर्शन व पूजन किया जाना उत्तम रहेगा। द्वितीया तिथि चंद्रमा की दूसरी कला है। इस कला का अमृत कृष्ण पक्ष में स्वयं सूर्यदेव पी कर स्वयं को ऊर्जावान रखते हैं व शुक्ल पक्ष में पुनः चंद्रमा को लौटा देते हैं। शुक्ल... आगे पढ़े

शनि अमावस्या पर बनेंगे धन मिलने के खास योग

Updated on 18 November, 2017, 6:30
18 नवंबर शनिवार को पड़ने वाली अमावस्या अपने आप में ही खास योग का निर्माण करती है। इस दिन कुछ उपाय कर लिए जाएं तो संसार की कोई ताकत आपको अमीर बनने से रोक नहीं सकती। धन संबंधित किसी भी समस्या का हल करने के लिए यह दिन बहुत कारगार... आगे पढ़े

वृश्चिक संक्रांति: गरीब छात्रों में यह फल बांटने से मिलेगी परीक्षा में सफलता

Updated on 16 November, 2017, 7:00
गुरुवार को मार्गशीर्ष कृष्ण त्रियोदशी तिथि पर सूर्यदेव के वृश्चिक राशि में आगमन पर वृश्चिक संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। ज्योतिषशास्त्र अनुसार सूर्यदेव एक माह में राशि परिवर्तन करते हैं। सूर्यदेव जब किसी राशि में प्रवेश करते हैंं तो उस काल को संक्रांति कहते हैं। हिंदू पंचांग अनुसार मार्गशीर्ष माह में... आगे पढ़े

प्रदोष पर्व: महादेव करेंगे आप पर कृपा, कार्यों में आ रही अड़चनें होंगी दूर

Updated on 15 November, 2017, 6:30
कल मार्गशीर्ष कृष्ण के त्रयोदशी के उपलक्ष्य में बुध प्रदोष पर्व मनाया जाएगा। हर माह के कृष्ण व शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि परमेश्वर शिव को समर्पित है। त्रयोदशी तिथि सभी प्रकार के दोषों का नाश करती है इसी कारण इसे प्रदोष कहते हैं। सर्वप्रथम प्रदोष का ज्ञान भगवान शंकर... आगे पढ़े

इस मुहूर्त में करें पूजन व उपाय, मोहमाया के प्रभाव से होंगे मुक्त

Updated on 14 November, 2017, 6:30
मंगलवार को मार्गशीर्ष कृष्ण ग्यारस के उपलक्ष्य में उत्पन्ना एकादशी पर्व मनाया जाएगा। उत्पन्ना शब्द उत्पत्ति से बना है जिसका अर्थ है किसी वस्तु या प्राणी का जन्म लेना। पद्मपुराण में श्रीकृष्ण ने धर्मराज युधिष्ठिर को इस एकादशी के बारे बताते हुए कहा है की सत्ययुग में मुर नामक दानव... आगे पढ़े

देवी भुवनेश्वरी के पूजन से जीवन में होगी ऐश्वर्य की प्राप्ति

Updated on 13 November, 2017, 6:30
सोमवार दि॰ 13.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण दशमी के उपलक्ष में देवी भुवनेश्वरी का पूजन श्रेष्ठ रहेगा। देवी भुवनेश्वरी तीनों लोकों की ईश्वरी हैं। देवी साक्षात संपूर्ण ब्रह्माण्ड को धारण कर पालन पोषण करती हैं। इन्हे जगन-माता व जगतधात्री के नाम से जाना जाता हैं। यही आकाश, वायु, पृथ्वी, अग्नि व... आगे पढ़े

दूध भरे शंख से श्रीहरी का करें अभिषेक, धन के अभाव से मिलेगी मुक्ति

Updated on 12 November, 2017, 6:30
रविवार दि॰ 12.11.17 को शास्त्रानुसार श्रीकृष्ण का स्वरूप कहे जाने वाले मार्गशीर्ष माह में शंख पूजन का विशेष महत्व रहेगा।  विष्णु पुराण अनुसार समुद्र मंथन से प्राप्त 14 रत्नों में से शंख एक रत्न है। लक्ष्मी समुद्र पुत्री हैं व शंख उनका सहोदर भाई है। अष्टसिद्धि व नवनिधी में शंख... आगे पढ़े

हनुमान पूजन से शनि होते हैं प्रसन्न, साढ़ेसाती व ढैय्या का कुप्रभाव होता है कम

Updated on 11 November, 2017, 6:30
आज शनिवार दि॰ 11.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष के शनिवार के उपलक्ष्य में शनि व हनुमान की संयुक्त पूजन करना हितकारी रहेगा। शास्त्रनुसार शनि ग्रह को अति क्रूर कहा गया है। अशुभ शनि व्यक्ति का जीवन दुखों व असफलताओं से भर देता है। शनि के कुप्रभाव से बचने हेतु शास्त्रों... आगे पढ़े

काल भैरव जंयती: महादेव के रौद्ररूप भैरव पूजन से शत्रुओं का होगा नाश

Updated on 10 November, 2017, 7:20
शुक्रवार दि॰ 10.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण के उपलक्ष्य में काल भैरव जयंती पर्व मनाया जाएगा। शिव पुराण के अनुसार इसी दिन महादेव अपने रुद्रावतार भैरव के रूप में प्रकट हुए थे। पौराणिक मतानुसार अंधकासुर दैत्य अपनी अनीति व अत्याचार की सीमाएं पार करते हुए महादेव पर आक्रमण करने का दुस्साहस... आगे पढ़े

लक्ष्मी जी की इस दुर्लभ फोटो की करें पूजा, व्यापार में होगा लाभ

Updated on 9 November, 2017, 6:30
दी॰ 09.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण षष्ठी पर पहला बृहस्पतिवार पड़ने के कारण लक्ष्मी पूजन विशेष लाभकारी रहेगा। अगहन नाम से प्रचलित मार्गशीष माह के बृहस्पतिवार को लक्ष्मी पूजन और यमुना स्नान का विशिष्ट महत्व है। इस माह में लक्ष्मी जी की ऐसी मूर्ति व चित्र लगाना चाहिए जिसमें वह कमल... आगे पढ़े

अन्न-धन की कमी से बचने के लिए किचन में छुपाकर रखें ये चीज

Updated on 8 November, 2017, 6:45
दी॰ 08.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की पंचमी व बुधवार के उपलक्ष में मां अन्नपूर्णा के पूजन व अनुष्ठान का विशेष महत्व है। शास्त्रनुसार देवी अन्नपूर्णा को सम्पूर्ण विश्व का संचालन करने वाली जगदंबा का ही रूप माना गया है। अन्नपूर्णा ही संपूर्ण संसार का भरण-पोषण करती हैं। अन्नपूर्णा का... आगे पढ़े

घर पर करें महाटोटका, तिजोरी में रखें ये चीज

Updated on 7 November, 2017, 6:30
दि॰ 07.11.17 को मार्गशीर्ष कृष्ण चतुर्थी पर आंगरक चतुर्थी मनाई जाएगी। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मंगलवार पर पड़ने वाली चतुर्थी को अंगारक चतुर्थी कहते हैं। शास्त्रनुसार गणेश जी का जन्म चतुर्थी तिथि पर हुआ था। इसी कारण चतुर्थी तिथि गणेशजी को अत्यधिक प्रिय है। श्रीगणेश को चतुर्थी का स्वामी बताया गया... आगे पढ़े

त्यौहार: 5 नवंबर से 11 नवंबर, 2017 तक

Updated on 5 November, 2017, 22:25
प्रस्तुत सप्ताह का प्रारंभ विक्रमी कार्तिक प्रविष्टे 20, मार्गशीर्ष कृष्ण तिथि प्रतिपदा पर्ता द्वितीया (द्वितीया तिथि का क्षय), रविवार, विक्रमी सम्वत् 2074, राष्ट्रीय शक सम्वत् 1939, दिनांक 14 (कार्तिक) को होकर समाप्ति विक्रमी कार्तिक प्रविष्टे 26, मार्गशीर्ष कृष्णतिथि अष्टमी, शनिवार को होगी। पर्व, दिवस तथा त्यौहार: 5 नवम्बर मार्गशीर्ष कृष्ण पक्षारंभ,... आगे पढ़े

मेन गेट पर बांधे ये चीज, तुरंत होगा पारिवारिक झगड़ों का अंत

Updated on 5 November, 2017, 8:40
आज रविवार दी॰ 05.11.17 मार्गशीर्ष शुक्ल प्रतिपदा व कृतिका नक्षत्र के उपलक्ष में मार्गशीर्ष कार्तिगई दीपम पर्व मनाया जाएगा। हर महीने मनाया जाने वाला कार्तिगई दीपम दक्षणी संस्कृति का सबसे प्राचीन पर्व माना जाता है। कार्तिगई दीपम पर्व की उत्पत्ति का मूल सूर्य का नक्षत्र कृतिका है। ज्योतिषशास्त्र में अग्निदेव... आगे पढ़े

सूर्यास्त के बाद इस मुहूर्त में करें दीपदान, सारा साल होगा धन लाभ

Updated on 4 November, 2017, 9:43
कार्तिक पूर्णिमा पर देव दीपावली के दिन गंगा के हर घाट पर बहुत सारे दीए जलाने के साथ-साथ गंगा पूजन का भी विधान है। यह त्यौहार दीवाली से 15 दिन बाद मनाया जाता है। इसे ही आगे चलकर देव दीपावली ने नाम से जाना गया। कहते हैं की इस परम्परा... आगे पढ़े

अक्षय पुण्य से लेकर सेहत तक मिलेंगे ढेरों लाभ

Updated on 4 November, 2017, 8:00
शनिवार दी॰ 04.11.17 कार्तिक माह के पूर्णाहुति के उपलक्ष्य में त्रिपुरी पूर्णिमा पर्व मनाया जाएगा। आज भरणी नक्षत्र होने पर कार्तिक पूर्णिमा विशेष फलदायी रहेगी। ब्रह्मा, विष्णु, शिव, अंगिरा व आदित्य ने इसे महापुनीत पर्व कहा है। अतः आज गंगा स्नान, दीपदान, होम, यज्ञ तथा उपासना का विशेष महत्त्व है।... आगे पढ़े

स्नान से लेकर रात तक करें ये काम, लक्ष्मी प्रसन्न होकर बरसाएंगी धन

Updated on 3 November, 2017, 9:00
कार्तिक पूर्णिमा का शास्त्रों में बहुत महत्व माना गया है। जो व्यक्ति इस दिन विधिपूर्वक पूजन करता है, उसके जीवन से सभी संतापों का अंत हो जाता है। जन्मकुंडली में जैसे भी दोष हों, उन्हें दूर करने के लिए ये दिन बहुत शुभ है। कार्तिक पूर्णिमा 4 नवंबर शनिवार को... आगे पढ़े

इस मुहूर्त में करें पूजन, होगी बैकुंठ लोक की प्राप्ति

Updated on 2 November, 2017, 7:40
 दि॰ 02.11.17 को कार्तिक शुक्ल चौदस के उपलक्ष्य में बैकुंठ चतुर्दशी पर्व मनाया जाएगा। बैकुंठ चतुर्दशी का वर्णन शास्त्र निर्णयसिन्धु, स्मृतिकौस्तुभ व पुरुषार्थ चिंतामणि में बताया गया है। कार्तिक शुक्ल चतुर्दशी को स्वयं श्रीहरि ने वाराणसी में स्नान करके पाशुपत व्रत करके विश्वेश्वर की पूजा अर्चना की थी। तभी से... आगे पढ़े

जानिए, तारा अस्त होने पर क्यों लग जाता है शुभ कार्यों पर ब्रेक

Updated on 1 November, 2017, 8:40
सन् 2017 में देव प्रबोधिनी एकादशी से देव उत्थापन के बाद भी मांगलिक कार्य शुरू नहीं होंगे। गुरु व शुक्र अस्त के कारण शेष आधे वर्ष में विवाह आदि मांगलिक कार्यों के लिए लोगों को केवल 20 ही दिन मिलेंगे। इसके अनेक कारण है जैसे की गुरु व शुक्र तारा... आगे पढ़े

देवोत्थान एकादशी: भगवान को जगाने के लिए करें इस मंत्र का जाप, करें उपाय

Updated on 31 October, 2017, 7:20
कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी देवोत्थान, प्रबोधिनी एवं देव उठानी एकादशी के नाम से प्रसिद्घ है तथा इस बार यह एकादशी 31 अक्तूबर को है। कहा जाता है कि जब भगवान जागते हैं तो वह अनेक प्रकार की क्रियाएं करने में प्रवृत हो जाते हैं और प्राणी मात्र... आगे पढ़े

जगद्धात्री पर्व: कष्ट रहित जीवन के लिए करें ये उपाय

Updated on 30 October, 2017, 9:30
सोमवार दि॰ 30.10.17 कार्तिक शुक्ल दशमी के उपलक्ष्य में देवी जगद्धात्री का पूजन किया जाएगा। जगद्धात्री का अर्थ है जगत की रक्षिका अर्थात जगदंबा। यही महादुर्गा हैं। सिंहवाहिनी चतुर्भुजा, त्रिनेत्रा व रक्तांबरा जगद्धात्री ही तंत्र विद्या की देवी हैं। शास्त्र शक्ति-संगम-तंत्र, उत्तर-कामाख्या-तंत्र, भविष्य पुराण व दुर्गाकल्प में जगद्धात्री पूजा का... आगे पढ़े

उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के बाद चार दिवसीय महापर्व छठ का समापन

Updated on 27 October, 2017, 12:30
पटना/नई दिल्ली । उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही तीन दिवसीय छठ पर्व शुक्रवार की सुबह संपन्न हो गया। इससे पहले छठ पूजा के दूसरे दिन उगते सूरज को अर्घ्य देने के लिए घाटों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। भगवान सूर्य को अर्घ्य देने के लिए... आगे पढ़े

छठ पर्व: 34 वर्ष बाद बन रहा है महा संयोग, जानें कैसी रहेगी हलचल

Updated on 26 October, 2017, 7:30
छठ पर्व बिहार का सबसे लोकप्रिय त्यौहार है। यह दीवाली के छठे दिन शुरू होता है। इसलिए इसे छठ पर्व कहा जाता है। छठ पर्व का पहला दिन कार्तिक शुक्ल चतुर्थी नहाय-खाय के रूप में मनाया जाता है। सबसे पहले घर की सफाई कर उसे पवित्र बनाया जाता है। इसके... आगे पढ़े

34 वर्ष बाद बन रहा है महा संयोग, जानें कैसी रहेगी हलचल

Updated on 25 October, 2017, 7:30
छठ पर्व बिहार का सबसे लोकप्रिय त्यौहार है। यह दीवाली के छठे दिन शुरू होता है। इसलिए इसे छठ पर्व कहा जाता है। छठ पर्व का पहला दिन कार्तिक शुक्ल चतुर्थी नहाय-खाय के रूप में मनाया जाता है। सबसे पहले घर की सफाई कर उसे पवित्र बनाया जाता है। इसके... आगे पढ़े

छठ पर्व: इस विधि से चार दिन तक किया जाता है व्रत

Updated on 24 October, 2017, 7:00
छठ षष्ठी का अपभ्रंश है। छठ पर्व एक वर्ष में दो बार चैत्र मास तथा कार्तिक मास में मनाने की परंपरा है लेकिन कार्तिक मास में मनाए जाने वाले छठ की रौनक तो देखते ही बनती है। दीपावली के बाद कार्तिक मास की अमावस्या को चार दिवसीय इस व्रत की... आगे पढ़े

इस शुभ मुहूर्त में लगाएं भाई को तिलक, बढ़ेगी उम्र

Updated on 21 October, 2017, 8:30
पंच पर्व महोत्सव दीवाली का पांचवां पर्व भैया दूज है जिसे यम द्वितीया भी कहा जाता है। यह भाई बहन के पवित्र प्रेम का प्रतीक है तथा देश भर में बड़े सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाइयों के माथे पर केसर का तिलक लगाती हैं... आगे पढ़े