Sunday, 17 February 2019, 10:13 PM

धर्म कर्म

शंकराचार्य समाधि स्थल के लिए मृतिका अर्पित

Updated on 18 April, 2014, 22:46
देहरादून। केदारनाथ मंदिर के निकट आदि गुरु शंकराचार्य की समाधि स्थल की पुनस्र्थापना के लिए चलाए जा रहे 'मिशन कलाड़ी टू केदार' दल का गुरुवार को राजभवन पहुंचने पर राज्यपाल डॉ. अजीज कुरैशी ने स्वागत किया। इस मौके पर राज्यपाल ने कलश में मृतिका (मिट्टी) अर्पित की। इस मौके पर डॉ.... आगे पढ़े

रेट्रोफिटिंग से भूकंपरोधी बनेगा केदारनाथ मंदिर

Updated on 18 April, 2014, 13:11
देहरादून: भीषण प्राकृतिक त्रासदी को झेलने वाले केदारनाथ मंदिर की सुरक्षा को लेकर सरकार अब बेहद संजीदा नजर आ रही है। भविष्य में प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआइ) के अधिकारी मंदिर को भूकंपरोधी बनाने में जुट गए हैं। चार मई को केदारनाथ मंदिर के कपाट... आगे पढ़े

समाधि के लिए देश भर से एकत्र की जा रही मिट्टी

Updated on 17 April, 2014, 22:46
देहरादून। फेथ फाउंडेशन ने केदारनाथ में आपदा से ध्वस्त हुई आदि गुरू शंकराचार्य की समाधि को पुनस्र्थापित करने का बीड़ा उठाया है। आदि गुरू की इस समाधि के लिए देश भर से पवित्र मिट्टी एकत्रित की जा रही है, जिसका उपयोग समाधि निर्माण में किया जाएगा। कलाड़ी से 14 फरवरी... आगे पढ़े

दत्तात्रेय अवतारी की महिमा न्यारी

Updated on 17 April, 2014, 22:45
हरि की भूमि कही जाने वाली हरियाणा प्रदेश की पावन धरा को ऋषि-मुनियों, साधु-संतों व विभिन्न देवी-देवताओं की जन्म तथा कर्मस्थली भी कहा जाता है। यही कारण है कि यहां पर श्रद्धा व भक्ति की धारा निरंतर बहती रही है। हरियाणा प्रदेश की धरा पर अनेक तपस्वियों व संत-महात्माओं ने... आगे पढ़े

मां वैष्णो का दरबार, भक्तों से गुलजार

Updated on 17 April, 2014, 22:45
कटड़ा। इन दिनों मां वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए देश-दुनिया से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। घने बादल और ठंडी हवा के बीच हजारों की संख्या में श्रद्धालु फोटो युक्त यात्रा पर्ची लेकर अपने परिवार सहित मां वैष्णो देवी भवन की ओर रवाना होते रहे। हेलीकॉप्टर और बैट्री... आगे पढ़े

धूमधाम से मनाया जाएगा गुरू तेग बहादुर के प्रकाश दिवस

Updated on 17 April, 2014, 22:43
रोहतक। गुरूद्वारा बंगला साहिब में शुक्रवार को दूसरी पातशाही साहिब गुरू अंगद देव व नौवीं पातशाही साहिब गुरू तेग बहादुर के प्रकाश दिवस की खुशी में बड़े ही उत्साह एवं धूमधाम से महा कीर्तन समागम का आयोजन किया जाएगा। समागम का आयोजन सांय साढ़े छह बजे से रात्रि साढ़े दस... आगे पढ़े

माता मंदिर में लाखों के प्रसाद में हुआ हेर फेर

Updated on 17 April, 2014, 22:43
गुड़गांव। अभी तक माता शीतला का दर्शन करने वाले ही अव्यवस्था से परेशान थे। बोर्ड प्रबंधन के ढुलमुल रवैये से माता के प्रसाद की बिक्री के लिए रखे गए ठेकेदारों ने भी हेर फेर करना शुरू कर दिया। हालांकि पकड़े जाने के बाद ठेकेदार ने पल्ला झाड़ लिया। बोर्ड प्रबंधन... आगे पढ़े

मोक्ष पाना है तो इस पूरे महीने सुबह सुबह करलें यह काम

Updated on 15 April, 2014, 23:40
इस वर्ष 15 अप्रैल को चैत्र शुक्ल पूर्णिमा तिथि है। इस पूर्णिमा को वैशाख पूर्णिमा भी कहा जाता है। वैशाख मास को शास्त्रों में कार्तिक मास की तरह ही पुण्य मास कहा गया है। स्कंद पुराण के अनुसार ब्रह्मा जी कहते हैं कि यह सभी मासों में सबसे उत्तम मास है।... आगे पढ़े

कहां मिले थे हनुमान जी अपने बेटे से

Updated on 15 April, 2014, 23:39
हनुमान जी का विवाह भी हुआ था और उनका एक बेटा भी था। हनुमान जी अपने बेटे से कहां और कब मिले थे इस बात का गवाह है यह मंदिर एक मत के अनुसार महावीर हनुमान जी का जन्म वैशाख पूर्णिमा के दिन हुआ था। हनुमान जी ने अपना पूरा जीवन... आगे पढ़े

इस शुभ दिन में दशमेश गुरु ने ली थी शिष्यों से दीक्षा

Updated on 15 April, 2014, 22:48
पटना सिटी। तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब में सोमवार को बैसाखी के मौके पर आयोजित विशेष दीवान में देश-विदेश के श्रद्धालु जुटे। उन्होंने कहा कि आज से 315 वर्ष पूर्व दशमेश गुरु गोविन्द सिंह ने ऊंच-नीच, छूआछूत, भेदभाव जैसी सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने के लिये खालसा पंथ की... आगे पढ़े

हैरत में बांकेबिहारी के भक्त सेवायतों में हलचल

Updated on 15 April, 2014, 22:44
वृंदावन। बांकेबिहारी मंदिर में सेवायत के कृत्य के खुलासे के बाद गोस्वामी समाज में हलचल रही। जबकि घटना को लेकर धार्मिक संस्थाओं और संत समाज में रोष है। उधर बिहारजी के भक्त इस घटना को लेकर हैरत में हैं। विदित हो कि फूलडोल एकादशी के दिन शयनभोग सेवा के दौरान गर्भगृह... आगे पढ़े

चलो री सब देखि आवैं बाजत बधाइंया

Updated on 15 April, 2014, 16:47
फैजाबाद। नीलविहार कालोनी में भी भगवान राम के छठ्योत्सव की छटा छाई रही। कालोनी की महिलाएं समाजसेवी निखिल श्रीवास्तव के घर पर एकत्रित हुईं एवं भगवान की मनोहारी झांकी के सम्मुख समवेत स्वर में बधाई गान प्रस्तुत किए। समारोह का संयोजन रामकथा मर्मज्ञ डॉ. सुनीता शास्त्री ने किया। चलो री सब... आगे पढ़े

डमरुओं की गड़गड़ाहट से भोर तक गूंजता रहा दशाश्वमेध घाट

Updated on 15 April, 2014, 16:43
वाराणसी। चैत्र शुक्ल चतुर्दशी तदनुसार सोमवार की रात तीसरे पहर जब घड़ियों ने ढाई बजाये तो दशाश्वमेध घाट स्थित शीतला मंदिर प्रांगण सहस्त्र दीप शिखाओं वाली आरती के दिव्य प्रकाश में नहा उठा। घरी-घंटाल और दर्जनों डमरुओं की गड़गड़ाहट के बीच मंदिर के श्री महंत पं. शिव प्रसाद पांडेय ने... आगे पढ़े

देवदर्शन के साथ शुरू हुआ बिस्सू पर्व

Updated on 15 April, 2014, 16:43
देहरादून। खालसा का साजना दिवस बैसाखी पर्व राजधानी में श्रद्धा एवं उत्साह के साथ मनाया गया। इस मौके पर गुरुद्वारों में कीर्तन दरबार सजे और शबद-कीर्तन की छटा बिखरी। गुरुद्वारा धामावाला की ओर से आयोजित कीर्तन दरबार का शुभारंभ भाई रसपाल सिंह ने 'आसा दी वार' के गायन 'गुर के... आगे पढ़े

आज है अदभूत दिन, कलयुग में आज त्रेता जैसा संयोग

Updated on 15 April, 2014, 16:42
देहरादून। हनुमान कर्म के देवता हैं और बल, बुद्धि, विद्या के प्रतिरूप भी। इसीलिए गोस्वामी तुलसीदास कहते हैं, 'बल बुद्धि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेस विकार।' कहने का मतलब यदि मनुष्य को यह तीनों चीजें मिल जाएं तो विकार स्वयं ही दूर हो जाते हैं। कहते हैं पवनपुत्र जैसा कोई... आगे पढ़े

बांकेबिहारी मंदिर के सेवायत ने रसोई को की अपवित्र

Updated on 14 April, 2014, 18:30
वृंदावन। बांकेबिहारी मंदिर के एक सेवायत की हरकत ने समूची धर्मनगरी को शर्मसार कर दिया। मंदिर की रसोई अपवित्र कर दी। उसकी यह हरकत सीसीटीवी में कैद हो गई है। घटना सामने आने के बाद प्रबंधन और सेवायतों में इसे लेकर खलबली मची हुई है। बताया जाता है कि ये हरकत... आगे पढ़े

सजे गुरु के द्वार, छाया हर्ष अपार

Updated on 14 April, 2014, 18:28
आगरा। प्रमुख पर्व बैसाखी रविवार को मनाया गया। सभी में उल्लास बिखरा और एक दूसरे को बधाइयां दी। गुरुद्वारों में गुरुवाणी गुंजायमान रही। वहीं केंद्रीय स्तर पर यह आयोजन माता प्रकाश कौर भवन पर किया गया, जिसमें रागीजनों ने गुरु भक्ति का बखान किया। पंजाबी समाज ने बैसाखी पर्व को उल्लास... आगे पढ़े

क्या आप जानते है फूलडोल एकादशी के लिये साल भर पहले बुकिंग होती है

Updated on 12 April, 2014, 23:33
वृंदावन। खुशबूदार देसी और विदेशी फूलों से सजे फूल बंगले के बीच बैठे बांके बिहारी खिल उठे। चारों ओर इत्र की भीनी सुगंध बरबस अपनी ओर खींच रही थी। फूलों की सजावट में हर कोई खो जाना चाहता था। इस दौरान हजारों श्रद्धालुओं ने सुबह से शाम तक अपने लाड़ले... आगे पढ़े

दक्षिणोश्वर काली जी का वार्षिक श्रृंगार

Updated on 12 April, 2014, 23:32
वाराणसी। भोजूबीर के पंचकोशी मार्ग स्थित मां दक्षिणोश्वर काली मंदिर में शुक्रवार को वार्षिक श्रृंगार का आयोजन किया गया। सुबह पांच बजे पंचामृत से स्नान कराकर रजत मुण्डमाला पहनाने के बाद मंगला आरती की गई। आयोजन के दौरान दूर दराज से आए लोग मौजूद रहे। छत्रपति शिवाजी महाराज द्वारा स्थापित... आगे पढ़े

बैसाखी पर जुटेंगे मंदिर में 50 हजार श्रद्धालु

Updated on 12 April, 2014, 23:30
अमृतसर/आगरा। बैसाखी 14 अप्रैल को मंदिर बाबा महादास (बल्ल बावा, फतेहगढ़ चूड़ियां रोड) में लगने वाले सालाना मेले में करीब 50 हजार श्रद्धालुओं का जमावड़ा होगा। विशाल लंगर लगेगा। भक्तों को किसी प्रकार की दुविधा न रहे इसके लिए मंदिर के तरफ से सारे इंतजाम पुख्ता होंगे। मंदिर सदियों पुराना है।... आगे पढ़े

महावीर जयंती: भक्ति और वैराग्य की बही वैतरणी

Updated on 12 April, 2014, 23:29
आगरा। भगवान महावीर के जयघोष के साथ शुक्रवार को चार दिवसीय महावीर जयंती समारोह का शुभारंभ हो गया। पहले दिन कई कार्यक्रम आयोजित हुए। विद्युत सजावट से हरीपर्वत चौराहा स्थित पाश्‌र्र्वनाथ मंदिर झिलमिला उठा। एमडी जैन इंटर कॉलेज परिसर में शुक्रवार सुबह से ही काफी चहल- पहल थी। यहां मान स्तभ... आगे पढ़े

यह आठ चीजें आपके पास हो तो हनुमान की तरह महावीर बन जाएंगे

Updated on 12 April, 2014, 23:13
दिल्ली : बलवानों में भी अगर कोई महाबलवान है तो वह हैं महावीर हनुमान जी। इनकी शक्ति के आगे भीम को भी सिर झुकाना पड़ा। रावण और मेघनाद को तो इन्होंने अपनी शक्ति से धूल चटा दिया था। जानते हैं हनुमान जी की इस शक्ति का राज क्या था। याद कीजिए... आगे पढ़े

ज्वालामुखी शक्तिपीठ में 59.67 लाख का चढ़ावा मां के चरणों में अर्पित

Updated on 11 April, 2014, 23:02
कांगड़ा। शक्तिपीठ ज्वालामुखी में चैत्र नवरात्र में भक्तों ने 59.67 लाख रुपये चढ़ावा मां के चरणों में अर्पित किया है। मंदिर अधिकारी देवी राम व सहायकमंदिर अधिकारी श्रेष्ठा ठाकुर ने बताया कि श्रद्धालुओं 5.99 किलोग्राम चांदी, 82 ग्राम सोना और विदेशी मुद्रा भी चढ़ावे के रूप में मां के चरणों... आगे पढ़े

आज से दर्शन देंगे बांकेबिहारी

Updated on 11 April, 2014, 22:59
वृंदावन। जन-जन के आराध्य ठा. बांकेबिहारी फूलडोल एकादशी शुक्रवार से फूल बंगला में विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देंगे। देसी-विदेशी फूलों के आकर्षक बंगले में विराजमान अपने आराध्य की एक झलक पाने को दूर-दराज से भक्तों के आने का क्रम शुरू हो चुका है। ठा. बांकेबिहारी मंदिर के फूल बंगला विशेषज्ञ... आगे पढ़े

महावीर जयंती: गूंजेंगे जय महावीर, हरेंगे सबकी पीर

Updated on 11 April, 2014, 22:55
आगरा। अहिंसा, प्रेम और शांति का संदेश देने वाले भगवान महावीर के जयंती समारोह शुक्रवार से प्रारंभ हो रहे हैं। जिसमें पहले दिन ध्वजारोहण के बाद धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाएंगे। आगरा दिगंबर जैन परिषद द्वारा आयोजित इस समारोह को सानिध्य प्रदान करने के लिए आचार्य मेरु भूषण महाराज... आगे पढ़े

काम पीड़ित होकर किए 'पापों' से मुक्ति दिला देगा ये व्रत

Updated on 11 April, 2014, 17:12
दिल्ली : शास्त्रों में काम, क्रोध और लोभ इन्हें सभी पापों का मूल कारण माना गया है। इनमें सबसे प्रमुख पाप काम है। काम पीड़ित होने पर व्यक्ति के अंदर अच्छे बुरे का फर्क करने की क्षमता खत्म हो जाती है। लेकिन मनुष्य का मन हमेशा संयम में रहे ऐसा... आगे पढ़े

रामकथा सुनाते सुनाते गुरु शिष्य में यह क्या गया

Updated on 11 April, 2014, 17:11
श्रीराम कथा की विशिष्ट काव्य शैली में रचना करनेवाले पंडित राधेश्याम कथावाचक संत-महात्माओं के सत्संग के लिए लालायित रहा करते थे। प्रभुदत्त ब्रह्मचारी की प्रेरणा से उन्होंने महामना पंडित मदनमोहन मालवीय को अपना गुरु बनाया था। मालवीय जी के श्रीमुख से भागवत कथा सुनकर पंडित राधेश्याम भाव-विभोर हो उठते थे। मालवीय... आगे पढ़े

नारद ने यह क्या किया कुंवारी रह गई वह कन्या

Updated on 10 April, 2014, 22:38
दिल्ली :यह कहानी है उस कन्या की जिसने भगवान शिव को पति रुप में पाने के लिए घोर तपस्या की। भगवान शिव ने विवाह करने का वरदान भी दिया और एक दिन बारात लेकर शिवजी विवाह करने निकल भी पड़े। लेकिन नारद ने शुचीन्द्रम नामक स्थान पर भगवान शिव को ऐसा... आगे पढ़े

यमराज नहीं, कोई और ले जाता है नर्क की ओर...

Updated on 10 April, 2014, 22:37
सभी धर्मग्रंथों में काम, क्रोध और लोभ को पतन का कारण बताया गया है। भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं, त्रिविधं नरकस्येदं द्वारं नाशनमात्मनः। कामः क्रोधस्तथा लोभस्तस्मादेत वयं त्यजेत।। यानी काम, क्रोध और लोभ नरक के द्वार हैं। ये तीनों आत्मा को नष्ट कर देते हैं, इसलिए इनका त्याग करना ही उचित... आगे पढ़े

महाकाल को संगीत का नजराना

Updated on 10 April, 2014, 16:30
वाराणसी। मणिकर्णिका घाट महाश्मशान पर बुधवार की रात कलाकारों ने महाकाल कालेश्वर महादेव को नृत्य संगीत का नजराना पेश किया। मौका था चैत दशमी पर वार्षिक श्रृंगार का। इस क्रम में दोपहर में बाबा का रूद्राभिषेक किया गया। शाम को कथा प्रवचन और रात में महाआरती की गई। रात 10 बजे... आगे पढ़े

संत सम्मेलन में उमड़े श्रद्धालु

Updated on 10 April, 2014, 16:27
विजयपुर। सुजवां व चक रामचंद क्षेत्र में स्थित प्राचीन तीर्थस्थल नमंदर में बैसाखी पर्व के उपलक्ष्य में चल रहे धार्मिक कार्यक्रम के तहत संत सम्मेलन हुआ। देवस्थान नमंदर के संचालक प्रबंधक बाबा परिवार की अगुआई में हुए सम्मेलन में 1008 महंत गणोश दास जी महाराज अखनूर वाले, साधु धर्म स्थान... आगे पढ़े

बज्रेश्वरी देवी में चढ़ा छह लाख से अधिक चढ़ावा

Updated on 10 April, 2014, 16:26
कांगड़ा। नवरात्र मेले के दौरान रामनवमी के दिन श्रद्धालुओं द्वारा 6,12,888 रुपये नकदी, 5 ग्राम 200 मिली ग्राम सोना व 717 ग्राम 800 मिलीग्राम चांदी चढ़ावे के रूप में चढ़ाई। नवरात्र मेले के अंतिम दिन पांच हजार श्रद्धालु बज्रेश्वरी देवी मंदिर में पहुंचे। मंदिर अधिकारी पवन बढियाल ने बताया कि... आगे पढ़े

5 लाख भक्त 40 लाख का नैवेद्यम

Updated on 9 April, 2014, 20:27
पटना। रामनवमी के पावन अवसर पर न केवल पटना बल्कि राज्य के कोने-कोने से आए श्रद्धालुओं ने महावीर मंदिर में दर्शन व पूजा-अर्चना की। आज पांच लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने मंदिर में प्रसाद चढाया। मंदिर के बाहरी भाग में लगाए गए आठ काउंटरों से 22,000 किलो से ज्यादा नैवेद्यम... आगे पढ़े

मां सिद्धिदात्री के साथ किया कंजकों का पूजन

Updated on 9 April, 2014, 20:26
नई दिल्ली। नवरात्र के आखिरी दिन भक्तों ने मां सिद्धिदात्री के दर्शन के साथ कंजकों का पूजन भी किया। झंडेवालान मंदिर में माता के दर्शन को भक्त आतुर दिखे। सेवादारों को व्यवस्था बनाए रखने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। मंदिर के पट खुलते ही मां के श्रृंगार के बाद सुबह की... आगे पढ़े

वाल्मीकि महिलाओं को पूजा करने से रोका

Updated on 9 April, 2014, 20:25
बागपत। जमाना भले ही 21वीं सदी में पहुंच गया हो लेकिन रूढि़वादिता आज भी हावी हैं। इसकी बानगी बागपत के बड़ौत शहर के पंचमुखी मंदिर में नजर आई, जहां एक विशेष समाज की महिलाओं ने वाल्मीकि समाज को पूजा-अर्चना नहीं करने दी। इसको लेकर जमकर हंगामा हुआ। दरअसल, कल मंदिर में... आगे पढ़े

शक्तिपीठों पर उमड़े श्रद्धालु

Updated on 9 April, 2014, 20:25
धर्मशाला। चैत्र माह के नौवें नवरात्र पर कांगड़ा के तीनों प्रसिद्ध शक्तिपीठों पर हजारों श्रद्धालुओं ने माथा टेका व मां का आशीर्वाद लिया। श्री चामुंडा नंदिकेश्वर धाम में करीब दस हजार श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना की। यहां नवरात्र मेले का समापन पूर्णाहुति के साथ हुआ। उधर, श्री ज्वालामुखी मंदिर में हवन पूजा व... आगे पढ़े

मनसा देवी मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाब

Updated on 9 April, 2014, 20:24
नूंह। अरावली की तलहटी में बसे बडौजी-गहबर गांव स्थित प्राचीन मनसा देवी मंदिर में दुर्गा पूजा के मौके पर दूर-दूर से आए भक्तजनों द्वारा पूजा अर्चना की गई। मंदिर में सुबह सवेरे से ही श्रद्धालुओं का तांता लगना शुरु हो गया। जो देर शाम तक भारी भीड़ में तब्दील हो गया।... आगे पढ़े

राम जन्मोत्सव के उल्लास में डूबी अयोध्या

Updated on 9 April, 2014, 20:23
लखनऊ। गृह-गृह बाज बधाव सुभ प्रगटे सुषमा कंद, हरषवंत सब जहं-तहं नगर नारि नर वृंद। अयोध्या में राम जन्म के उत्सव का चित्र खींचती यह पंक्ति शब्दश: साकार हो रही थी। मध्याह्न राम जन्म महोत्सव की शुभ घड़ी शुरू होने के साथ ही रामनगरी के तकरीबन दस हजार मंदिरों के... आगे पढ़े

रामनवनमी जुलूस को लेकर कानपुर में पक्षों में संघर्ष

Updated on 9 April, 2014, 20:22
लखनऊ। कानपुर में बीती शाम रामनवमी जुलूस को लेकर दो वगरें के बीच विवाद के बाद हालात बिगड़ गए। संघर्ष शोभायात्रा का तय रूट रास्ता खराब होने के कारण बदले जाने से शुरू हुआ। मारपीट व पथराव में महिलाओं व बच्चे समेत एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। पुलिस... आगे पढ़े

कैकेयी ने सीता को मुंह दिखाई में दिया था यह भवन

Updated on 8 April, 2014, 23:07
अयोध्या। राम जन्मोत्सव का बुनियादी सरोकार भले ही रामजन्मभूमि से समीकृत हो पर आस्था उमड़ती है कनक भवन पर, जिसकी भरी-पूरी गौरवमय परंपरा है। पौराणिक मान्यता के अनुसार त्रेता में यह स्थान कैकेयी का महल था और जिसे उन्होंने सीता को मुंह दिखाई में दिया था। जैसा कि नाम से... आगे पढ़े

भगवती ब्रह्मचारिणी को 1008 नारियलों की बलि

Updated on 8 April, 2014, 23:06
वाराणसी। वासंतिक नवरात्र की अष्टमी व नवमी की संधि बेला में सोमवार को भगवती ब्रह्मचारिणी को तबले की थाप के बीच 1008 नारियलों की बलि दी गई। सितार व वालिन की झंकार तो सुर राग में गूंथे। महानिशा काल में अनूठे अनुष्ठान के बीच जयकार गूंजती रही। भक्ति के रंगों... आगे पढ़े

मंदिरों के माला-फूल करेंगे मलामाल

Updated on 8 April, 2014, 23:05
वाराणसी। मंदिरों के शहर बनारस में प्रतिदिन सैकड़ों क्विंटल फूल मालाओं की खपत होती है। अंतत: मुरझाकर ये फूल गंगा में प्रवाहित हो जाते हैं। इसे रोकने के लिए बीएचयू स्थित कृषि विज्ञान संस्थान के कृषि वैज्ञानिकों ने फूलों के सहारे पुण्य और धन दोनों कमाने की राह निकाली है।... आगे पढ़े

चैत्र शुक्ल नवमी को मनता है श्रीराम जन्मोत्सव

Updated on 8 April, 2014, 23:04
देहरादून। विक्रमी सवंत्सर का प्रारंभ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से होता है और उसके आठ दिन बाद चैत्र शुक्ल नवमी को आती है रामनवमी यानी श्रीराम जन्मोत्सव। रामनवमी भगवान राम की स्मृति को समर्पित है। राम सदाचार के प्रतीक हैं, इसलिए उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम कहा गया। उन्हें श्रीविष्णु का अवतार भी माना... आगे पढ़े

आज ही के दिन शुरू हुई थी मानस की रचना

Updated on 8 April, 2014, 23:04
अयोध्या। चैत्र शुक्ल पक्ष नवमी की तिथि राम जन्मोत्सव के साथ राम कथा को लोक रंजक बनाने वाले कालजयी ग्रंथ रामचरितमानस की रचना शुरू होने की भी तिथि है। यही नहीं गोस्वामी तुलसीदास ने यह शुभ कार्य शुरू करने के लिए जिस नगरी का चुनाव किया, वह उनके आराध्य की... आगे पढ़े

योग लगन ग्रहवार तिथि सकल भये अनुकूल

Updated on 8 April, 2014, 23:03
अयोध्या। योग लगन ग्रहवार तिथि सकल भये अनुकूल चर अरु अचर हर्ष युत राम जनम सुख मूल। राम जन्म का प्रसंग निरूपित करती रामचरितमानस की यह पंक्ति राम जन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर साकार प्रतीत हो रही है। नगरी की परिधि में लाखों-लाख श्रद्धालु दाखिल हो चुके हैं और सबके... आगे पढ़े

काशी को मिला रामनवमी का उपहार

Updated on 8 April, 2014, 23:02
वाराणसी। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की छवियां तो लोगों ने बहुतेरी देखी होंगी लेकिन वाराणसी में कल से इनका विलक्षण तथा अनोखा रूप देखने को मिलेगा। अगर आपको अवधेश की तनी हुई घनी मूंछों वाली वीर वेशीय मनोहारी मुद्रा देखनी हो तो आपको तुलसी मंदिर, तुलसीघाट में आना होगा। यहां पर... आगे पढ़े

मरते समय रावण ने लक्ष्मण को राज की यह बात बताई

Updated on 8 April, 2014, 14:00
भगवान श्रीराम के बाणों से बुरी तरह घायल हुआ रावण मरणासन्न था। श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा, रावण शास्त्रों तथा राजनीति का महान ज्ञाता है। तुम उसके पास जाकर राजनीति का उपदेश ग्रहण करो। लक्ष्मण रावण के पास पहुंचे तथा उसके सिर के पास खड़े होकर बोले, लंकाधिपति, मैं राजनीति... आगे पढ़े

रामजन्मोत्सव: आज रात 2 बजे ही खुल जाएगा महावीर मंदिर का पट

Updated on 7 April, 2014, 20:56
पटना। श्रीराम नवमी के अवसर पर सोमवार की रात दो बजे पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर का पट दर्शन के लिए खुल जाएगा। अनुमान है कि इस दिन पांच लाख से अधिक श्रद्धालु पूजा करने के लिए पहुंचेंगे। महावीर मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कहा कि मंदिर... आगे पढ़े

हेमकुंड यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी

Updated on 7 April, 2014, 20:55
गोपेश्वर। पर्यटन विभाग के साथ गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी भी यात्रियों के रजिस्ट्रेशन के बिना उन्हें गोविंदघाट से हेमकुंड जाने की इजाजत नहीं देगी। रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता सुनिश्चित करने के लिए गोविंदघाट में अलकनंदा नदी पर बने पुल पर रजिस्ट्रेशन चेक किया जाएगा। गौरतलब है कि 2013 जून में आपदा के बाद... आगे पढ़े

राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे...

Updated on 7 April, 2014, 20:53
आज रामनवमी है, भगवान श्रीराम का जन्म दिन। पौराणिक कथाओं के अनुसार आज ही के दिन भगवान श्रीराम और माता सीता का विवाह भी हुआ था। श्रीराम के चरित्र को जानने के लिए समय-समय पर रचे गए महाकाव्योंर की लंबी श्रृंखला है जिनमें वाल्मिकी रामायण और गोस्वामी तुलसीदास कृत श्री... आगे पढ़े