Tuesday, 21 August 2018, 11:00 PM

धर्म कर्म

चैत्र नवरात्रि में एकसाथ आई अष्टमी-नवमी तिथि, जानें कंजक पूजन का शुभ मुहूर्त

Updated on 24 March, 2018, 7:00
नवरात्र के दौरान आठवें अथवा नौवें दिन सुबह के समय कन्या पूजन किया जाता है। माना जाता है कि आहुति, उपहार, भेंट, पूजा-पाठ और दान से मां दुर्गा इतनी खुश नहीं होतीं, जितनी कंजक पूजन और लोंगड़ा पूजन से होती हैं। अपने भक्तों को सांसारिक कष्टों से मुक्ति प्रदान करती... आगे पढ़े

रामनवमी के शुभ अवसर पर जानिए वास्तव में कौन हैं श्रीराम

Updated on 23 March, 2018, 8:00
रामनवमी का पर्व चैत्र शुक्ल की नवमी को मनाया जाता है। हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान श्री राम का जन्म हुआ था। शास्त्रों में लिखा गया है कि रावण के अत्याचारों को समाप्त करने तथा धर्म की पुन: स्थापना हेतु भगवान विष्णु ने मृत्यु लोक में श्री... आगे पढ़े

चैती छठ: ‘खरना’पर व्रतियों ने पवित्र गंगा में लगाई डूबकी

Updated on 23 March, 2018, 7:20
पटना: बिहार में सूर्योपासना के चार दिवसीय चैती छठ के दूसरे दिन यानी खरना पर व्रतियों ने आज गंगा समेत अन्य नदियों एवं तालाबों में स्नान किया। महापर्व चैती छठ के दूसरे दिन आज सुबह व्रतियों ने पटना समेत राज्य के विभिन्न जिलों में नदियों, तालाबों एवं कुंडों में स्नान... आगे पढ़े

25 मार्च तक भूलकर भी न करें ये काम वरना रूष्ट हो सकती हैं मां दुर्गा

Updated on 22 March, 2018, 7:00
चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा के पाठ-पूजन का बहुत महत्व होता है क्योंकि इन दिनों में मां की अराधना करने से व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि का आगमन होता है। परंतु यदि इन ही दिनों में इंसान कुछ एेसे काम करे जो नवरात्रों में करने वर्जित माने जाते हों तो... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्र के तीसरे दिन हुआ मैहर की मां शारदा का विशेष श्रृंगार

Updated on 20 March, 2018, 13:45
सतना। मैहर के त्रिकूट पर्वत पर विराजी मां शारदा का चैत्र नवरात्र के तीसरे दिन मंगलवार सुबह विशेष श्रृंगार हुआ। सुबह से ही माता की एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंच रहे हैं। लाखों करोड़ों लोगों के आस्था के केन्द्र मां शारदा देवी मंदिर मैहर... आगे पढ़े

शक्तिपीठ : यहां गिरे थे माता सती के दांत, नाम पड़ा दंतेश्वरी देवी

Updated on 20 March, 2018, 12:30
छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा के जिला मुख्यालय में स्थित है मां दंतेश्वरी का मंदिर को देश का 52वां शक्तिपीठ माना जाता है। डंकिनी और शंखिनी नदी के संगम पर स्थित इस मंदिर का जीर्णोद्धार पहली बार वारंगल से आए पांडव अर्जुन कुल के राजाओं ने करीब 700 साल पहले... आगे पढ़े

नवरात्रि में विशेष फलदाई है हनुमान उपासना, मनचाहे फल की इच्छा होगी पूरी

Updated on 20 March, 2018, 7:00
नवरात्रि में हनुमान जी की उपासना विशेष फलदाई है। वैसे तो वह केवल जय सियाराम बोलने से ही प्रसन्न हो जाते हैं। हमारे धर्मशास्त्रों में उनकी उपासना की विशेष विधि भी बताई गई है। जिससे उनके दर्शनों से लेकर मनचाहे फल तक की इच्छा पूर्ण की जा सकती है। हनुमान... आगे पढ़े

नवरात्रि में करें इनमें से कोई 1 उपाय, होगी मां काली की विशेष कृपा

Updated on 19 March, 2018, 9:00
आज मां दुर्गा की पूजा-अर्चना का पर्व चैत्र नवरात्रि आरंभ हो गया है। अाज से नौ दिन तक पूरे विधि-विधान के साथ मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाएेगी। इन दिनों मे की गई पूजा से प्रसन्न होकर माता रानी अपने भक्तों के सारे कष्टों व दुखों का... आगे पढ़े

छिन्नमस्तिका करती हैं समस्त चिताएं दूर, जानिए क्या है यहां के शिवलिंगों का रहस्य

Updated on 19 March, 2018, 8:00
ऊना: देशभर में चैत्र नवरात्र आज से शुरू हो गए हैं। हर जगह मां की भक्ति की आलौकिक सुंगध फैल गई है। नवरात्रों में मां दुर्गा के सभी शक्तिपीठों में श्रद्धालु भक्तिभाव से दर्शनों के लिए जाते हैं। सभी शक्तिपीठों को फूलों से सजाया गया है। इन शक्तिपीठों की काफी... आगे पढ़े

नवरात्र के दूसरे दिन प्रवेश परीक्षा में सफलता हेतु आजमाएं महागुरु का महा टोटका

Updated on 18 March, 2018, 9:00
सोमवार दी॰ 19.03.18 को चैत्र शुक्ल द्वितीया पर अर्थात नवरात्रि के दूसरे दिन द्वितीय दुर्गा देवी ब्रह्मचारिणी का पूजन किया जाएगा। शब्द ब्रह्मचारिणी का अर्थ है ब्रह्म का आचरण करने वाली देवी। मंगल ग्रह पर आधिपत्य रखने वाली ब्रह्मचारिणी साक्षात ब्रह्मत्व स्वरूपा हैं। देवी ब्रह्मचारिणी मनुष्य जीवन की बाल अवस्था... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्रि: रंग-बिरंगे फूलों से सजा मां वैष्णो का दर

Updated on 18 March, 2018, 8:00
कटड़ा: चैत्र नवरात्र पर मां वैष्णो देवी भवन सहित धर्मनगरी में तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। समूचे भवन को रंग-बिरंगे फूलों से सजाया गया है, ताकि नवरात्रों के दौरान दर्शनों को आए श्रद्धालु आकर्षित हो सकें। भवन व यात्रा मार्ग पर साफ-सफाई हेतु विशेष टीम लगी हैं। श्राइन बोर्ड के... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्र 2018: नौ नहीं आठ दिन मनाए जाएंगे, बेहद शुभ संयोग है

Updated on 17 March, 2018, 11:45
कल 18 मार्च रविवार से चैत्र नवरात्र और उतरा-भाद्रपद नक्षत्र एवं मीन राशि में विक्रम संवत 2075 का आरंभ हो जाएगा। ग्रह नक्षत्रों की चाल के अनुसार सर्वार्थ सिद्धि योग बनेगा। नए साल के राजा होंगे नवग्रहों के प्रधान सूर्य देव और मंत्री बनेंगे उनके पुत्र शनि महाराज। पिता-पुत्र एक... आगे पढ़े

18 मार्च से आरंभ होगा नवदुर्गा का पूजन पर्व नवरात्र, जानें नौ दिनों के नौ स्वरूपों को

Updated on 17 March, 2018, 7:20
नवरात्र दुर्गा मां का उत्सव है। नवरात्र के नौ दिन मां के अलग-अलग नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है तथा प्रत्येक देवी स्वरूप शक्ति का अवतार है। नवरात्र का त्यौहार मां दुर्गा के महिषासुर नामक असुर के साथ हुए युद्ध और उस पर उनकी विजय का प्रतीक है। यह... आगे पढ़े

चैत्र नवरात्र में भूलकर भी न करें ये गलतियां, वरना मां होंगी नाराज

Updated on 16 March, 2018, 8:00
चैत्र नवरात्र में मां दुर्गा के नौ रूपों की नौ दिन विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। इन दिनों में भक्त दिन व रात अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए पूरी श्रद्धा-भावना से मां की आराधना करते हैं। लेकिन कई बार लोग नवरात्रों में कुछ एेसी कुछ गलतियां कर... आगे पढ़े

नवरात्रों में इस जगह स्थापित करें मां की प्रतिमा, सुख-समृद्धि का होगा वास

Updated on 15 March, 2018, 8:00
देवी दुर्गा हिंदुओं की प्रमुख देवी हैं जिन्हें देवी और शक्ति भी कहते हैं, इन्हें आदि शक्ति, प्रधान प्रकृति, गुणवती माया, बुद्धितत्व की जननी तथा विकार रहित भी बताया गया है। वह अंधकार व अज्ञानता रूपी राक्षसों से रक्षा करने वाली तथा कल्याणकारी हैं। इसलिए व्यक्ति को इनकी पूजा सच्चे... आगे पढ़े

नवरात्रि 2018: जानें, किस दिन होगी नवदुर्गा के किस रूप की पूजा

Updated on 14 March, 2018, 8:00
18 मार्च से चैत्र नवरात्रि का आरंभ हो रहा है। इस दौरान नवदुर्गा के 9 रूपों की आराधना होगी। हर दिन मां के अलग-अलग रूप को समर्पित है। नवरात्र की नौ देवियां हमारे संस्कार एवं आध्यात्मिक संस्कृति के साथ जुड़ी हुई हैं। ईश-साधना और आध्यात्म का अद्भुत संगम है जिसमें... आगे पढ़े

17 मार्च को पड़ रहा है शनि अमावस्या का शुभ संयोग, कर लें अपने दुखों का निवारण

Updated on 14 March, 2018, 7:00
17 मार्च 2018 को शनिवार और अमावस्या का शुभ संयोग बन रहा है। ये दिन शनि देव को प्रसन्न करने के लिए बहुत अच्छा है। इस दिन हो सकता है हर दुख का निवारण और खुल सकते हैं भाग्य के द्वार। साढ़ेसाती और ढय्या से ग्रस्त राशियां इस दिन शनिदेव... आगे पढ़े

इस बार आठ दिन के होंगे नवरात्र, ऐसे करेंं घटस्थापन

Updated on 13 March, 2018, 12:00
देहरादून: चैत्र नवरात्र 18 मार्च से शुरू हो रहे हैं। इस बार नवरात्र आठ दिन होंगे। अष्टमी और नवमी तिथि एक दिन यानी 25 मार्च को पड़ रही हैं। इसी दिन कन्या पूजन के साथ नवरात्र पूजा अनुष्ठान पूरा होगा। मंदिरों में नवरात्र महोत्सव और रामनवमी की तैयारियां भी शुरू... आगे पढ़े

सनातन संस्कृति से जानें: कैसे मनाना चाहिए जन्मदिन, ये चीजें न करें

Updated on 13 March, 2018, 8:00
मानव के रूप में जन्म हमारे लिए भगवान का सबसे बड़ा उपहार है। मानव जीवन ऊर्ध्वगमन अर्थात मोक्ष की सीढ़ी है। अच्छे कर्मों के लिए मानव जीवन सर्वोत्तम योनि है। देवों के लिए भी दुर्लभ मानव देह प्राप्ति का प्रारंभ अर्थात् जन्मतिथि अपने माता-पिता, पितृगण, देव, ऋषि, मान्यजन, प्रकृति, धरती... आगे पढ़े

हाथ के इस भाग से पितरों को जल करें अर्पित, दूर होगा बुरा समय

Updated on 11 March, 2018, 9:00
धार्मिक पुराणों में मानव व उसके जीवन संबंधित कई बातें बताई गई हैं। उन्हीं में से एक में मानव के जुड़ी बहुत बातों का वर्णन मिलता है। इसमें मनुष्य के दाएं यानी सीधे हाथ में 5 ऐसी जगहों के बारे में बताया गया, जो बहुत खस मानी जाती हैं। धर्म... आगे पढ़े

क्या आप जानते हैं भगवान विष्णु से संबंधित ये तीन रहस्य

Updated on 9 March, 2018, 7:00
हिंदू पौराणिक ग्रंथों में श्रीहरि को पूरे ब्राह्माण्ड का देवता कहा गया है। पौराणिक कथाओं की मानें तो श्रीहरि के दो चेहरों के बारे में बात कही गई है। एक तरफ वह शांत सुखद और कौमल के रूप में दिखाई देते हैं। वहीं दूसरी ओर वें शेषनाग पर आसन लेकर... आगे पढ़े

navratri 2018: जानिए कब से शुरू है चैत्र नवरात्रि और क्या है घट स्थापना का शुभ मुहूर्त

Updated on 8 March, 2018, 12:15
मां दुर्गा की उपासना का पर्व नवरात्रि जल्द ही शुरू होने जा रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार चैत्र नवरात्रि से ही नए साल की शुरुआत भी हो जाती है। इस बार 18 मार्च से नवरात्रि की शुरुआत होगी जो 25 मार्च को अष्टमी और नवमी तिथि तक रहेगी। साल... आगे पढ़े

शीतला माता के दरबार में रात 12 बजे से लगी महिलाओं की कतारें

Updated on 8 March, 2018, 10:30
पाली | आदर्श नगर स्थित सबसे प्राचीन शीतला माता मंदिर में शीतला सप्तमी पर्व को लेकर गुरुवार को मेले का आयोजन किया जाएगा। सप्तमी को लेकर मंदिर परिसर मध्यरात्रि से ही महिलाओं की भीड़ जुटना शुरू हो गई। महिलाओं ने माताजी की पूजा अर्चना कर प्रसादी का भोग लगाया। कलेक्टर... आगे पढ़े

ये है देवी-देवताओं को खुश करने की विधि, हफ्ते के इस दिन होगी आपकी इच्छा पूरी

Updated on 8 March, 2018, 8:40
अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए व्यक्ति युगों-युगों से देवी-देवताओं की आराधना करता आ रहा है। सप्ताह के सातों दिनों पर अलग-अलग दैवीय शक्तियों का साम्राज्य स्थापित है। शिव पुराण में वर्णित है कि समस्त देवों की पूजा और उनके फल विभिन्न हैं। भगवान शिव को समर्पित ग्रंथ शिवपुराण की... आगे पढ़े

कानपुर के गंगा मेला में उतरेगा होली का खुमार

Updated on 7 March, 2018, 7:20
कानपुर: पूरे देश में ज्यादतार जगहों पर होली के त्यौहार की धूम चाहे थम गई हो लेकिन उत्तर प्रदेश के कानपुर के औद्योगिक नगर में अभी भी होली की खुमारी बरकरार है। इसकी खुमारी गुरूवार को होने वाले गंगा मेले के साथ उतरेगी। दरअसल, कानपुर में होली खेलने की यह... आगे पढ़े

जानिए, पूजा के अंत में ही क्यों किया जाता है हवन

Updated on 6 March, 2018, 7:20
अक्सर हम लोग देखते हैं कि घर में चाहे छोटी पूजा हो या कोई बड़ी, प्रत्येक के उपरांत हवन करना अवश्यक माना जाता है। लेकिन एेसा क्यों किया जाता है। इसके बारे में किसी को ज्ञान नहीं है। तो आईए आज हम आपको इसके पीछे का असल कारण व मान्यता... आगे पढ़े

ब्रह्मा के एक वरदान से जब इस असुर ने बनाई मुर्दों को जीवित करने वाली बावड़ी

Updated on 5 March, 2018, 7:40
ब्रह्मा जी से वर पाने के उपरांत तारकासुर के तीन पुत्र तारकाक्ष, कमलाक्ष और विद्युन्माली ने मयदानव के द्वारा तीन पुर (त्रिपुर) तैयार करवाए। उन तीनों पुरों में एक सोने का, एक चांदी का और एक लोहे का था। ये तीनों नगर आकाश में इधर-उधर आ-जा सकते थे। इसमें बढे़-बढे़... आगे पढ़े

गरुड़ पुराण: प्रात काल करें ये 4 काम, नकारात्मक शक्तियों का होगा नाश

Updated on 4 March, 2018, 7:40
हिंदू धर्म में एेसी कई पुरानी परंपराएं हैं जिन्हें यदि आज भी व्यक्ति अपने जीवन में अपनाए तो घर में से हर प्रकार की नकारात्मक शक्ति को दूर कर सकता है। क्योंकि नकारात्मक ऊर्जा की वजह से इंसान के सोच-विचार में भी नैगेटिविटी आने लगती है, जिसके कारण वो अपने... आगे पढ़े

शनिवार की सुबह घर आए ये 3 बिन बुलाए मेहमान, देते हैं शनि कृपा का संकेत

Updated on 3 March, 2018, 7:00
प्रत्येक दिन पर किसी न किसी ग्रह का अधिपत्य स्थापित है। शनिवार का दिन शनि ग्रह के अधीन है। शनि की ढैय्या या साढ़ेसाती से बचना चाहते हैं तो अपने कर्म सुधारें। इससे आपको कोई भी विशेष उपाय नहीं करने पड़ेंगे, शनि के प्रकोप से सदा के लिए बचे रहेंगे।... आगे पढ़े

आखिर क्यों श्रीहरि व उनकी अर्धांगिनी को बनना पड़ अश्व व अश्वी

Updated on 2 March, 2018, 7:00
एक समय की बात है श्रीहरि वैकुण्ठ लोक में लक्ष्मी जी के साथ विराजमान थे। उस ही समय उच्चेः श्रवा नामक अश्व पर सवार होकर रेवंत का आगमन हुआ। उच्चेः श्रवा अश्व  दिखने में अत्यंत सुन्दर था। उसकी सुंदरता की तुलना किसी अन्य अश्व से नहीं की जा सकती थी।... आगे पढ़े

भारत के इस मंदिर में रहते हैं भगवान विष्णु, यहां की अकूत दौलत देखकर दुनिया रह गई थी दंग

Updated on 1 March, 2018, 20:00
कभी भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था. यहां के हर मंदिर और देवालय में इतना सोना और दौलत होने की बातें थीं जिसके बारे में सुनकर सभी को हैरत होती है. लेकिन आइए हम आपको बताने जा रहे हैं देश के ऐसे ही एक मंदिर के बारे में... आगे पढ़े

देशभर की इन जगहों में कुछ Special तरीके से मनाई जाती है होली

Updated on 1 March, 2018, 12:00
पूरे देशभर में होली के पर्व का धूम देखने को मिल रही है। होली का त्यौहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। इस त्यौहार में रंगो का खास महत्व है। भारत के विभिन्न-विभिन्न हिस्सों में होली का त्यौहार मनाया जाता है लेकिन इन्हें मनाने के सब... आगे पढ़े

तमिलनाडु के मशहूर मंदिर में बैन होंगे मोबाइल

Updated on 1 March, 2018, 8:40
तमिलनाडु के मशहूर मंदिर देवी मीनाक्षी अम्मन मंदिर में ले जाने वाले मोबाइल फोन बैन होंगे। यह मंदिर दक्षिण भारत के मदुरई में स्थित है। 3 मार्च से मंदिर में मोबाइल फोन ले जाने पर प्रतिबंध लग जाएगा । मंदिर प्रशासन ने कहा है कि मद्रास हाईकोर्ट की बेंच ने... आगे पढ़े

रावण से खफा हो श्रीलंका को छोड़ यहां विराजमान हो गई थी देवी दुर्गा

Updated on 27 February, 2018, 7:00
भारत में एेसे कई मंदिर है जो अपने रहस्य को लेकर विश्वभर में प्रसिद्ध है। उन्हीं में से एक कश्मीर में श्रीनगर के तुलमुल गांव में खीर भवानी के नाम से एक देवी मंदिर विख्यात है। इस मंदिर के बारे में पौराणिक एक कहानी प्रचलित है जो इसके आकर्षण का... आगे पढ़े

शिव पूजा में करते हैं इस वस्तु का उपयोग तो नहीं प्राप्त होगा पूजन का फल

Updated on 26 February, 2018, 7:20
जैसे कि शिव भक्तों को पता है कि शिवजी बहुत सरलता से प्रसन्न हो जाते हैं। इनकी पूजा के उपाय भी बहुत आसान होते हैं। जो इनकी पूरी श्रद्धा से पूजन करते हैं, भगवान शिव उन पर अपनी आपार कृपा करते हैं। समस्त देवों में शिव ही एक ऐसे देव... आगे पढ़े

डेढ़ महीने से यहां बैठा है नाग, लोग मान रहे चमत्कार

Updated on 25 February, 2018, 8:00
नवीन निश्चल  आउटर दिल्ली के देहात छावला के रेवला खानपुर गांव में अजीब स्थिति देखने को मिल रही है। एक नाग को देखने दूर-दूर से लोग आने लगे हैं। रोज यहां मेले जैसे हालात बन रहे हैं। और तो और, लोगों ने नाग की पूजा अर्चना करनी भी शुरू कर... आगे पढ़े

सिर पर चोट के निशान संग आज भी यहां विराजमान हैं गजानन

Updated on 25 February, 2018, 7:20
वैसे तो भगवान गणेश के विश्वभर में कई प्रसिद्ध मंदिर है। उन्हीं में से एक प्रसद्धि मंदिर तमिलनाडू में स्थित है। यह मंदिर लगभग 273 फुट की ऊंचाई पर है और मंदिर तक पहुंचने के लिए लगभग 400 सिढ़ियों की चढा़ई करनी पड़ती है। भगवान गणेश का यह मंदिर तमिलनाडू... आगे पढ़े

26 फरवरी को है रंगभरी एकादशी, जानें काशी से जुड़ा इसका खास महत्व

Updated on 24 February, 2018, 8:00
फाल्गुन शुक्ल की एकादशी को रंगभरी एकादशी कहा जाता है और यह 26 जनवरी को है। रंगभरी एकादशी पर काशीपुराधिपति देवाधिदेव महादेव बाबा विश्वनाथ को दूल्हे के रूप में सजाया जाता है और उन्हें मां गौरा को गौने पर लाया जाता है। इस बार गौना बारात में महादेव खादी से... आगे पढ़े

यहां मनाई जाती है दुनिया की सबसे बड़ी होली? दिल्ली से 12 हजार KM दूर

Updated on 23 February, 2018, 12:00
रंगो का त्योहार होली दुनियाभर में मशहूर है. अमेरिका में इसे 'फेस्टिवल ऑफ कलर' के नाम से मनाया जाता है. यहां के शहर स्पैनिश फोर्क में बनी इस्कॉन टेम्पल में होली बहुत बड़े स्तर पर मनाई जाती है. राधा-कृष्ण के मंदिर में मनाए जाने वाले 'फेस्टिवल ऑफ कलर' के प्रवक्ता के... आगे पढ़े

शिव-पार्वती के निवास स्थान 'कैलाश मानसरोवर' की यात्रा का पंजीकरण शुरू

Updated on 23 February, 2018, 7:20
कैलाश पर्वत भारत में स्थित एक पर्वत श्रेणी है। यह हिमालय के केंद्र में है। कैलाश पर्वत वह पवित्र जगह है, जिसे शिव-पार्वती का धाम माना जाता है। इस पर्वत के पश्चिम तथा दक्षिण में मानसरोवर तथा रक्षातल झील हैं। यहां से कई महत्वपूर्ण नदियां निकलतीं हैं जैसे ब्रह्मपुत्र, सिंधु,... आगे पढ़े

आज का पंचांग: 23 फरवरी, 2018 शुक्रवार फाल्गुन शुक्ल तिथि अष्टमी

Updated on 23 February, 2018, 5:15
23 फरवरी, 2018 शुक्रवार फाल्गुन शुक्ल तिथि अष्टमी (23-24 मध्य रात 12.44 तक) विक्रमी सम्वत् : 2074, फाल्गुन प्रविष्टे: 12, राष्ट्रीय शक सम्वत्: 1939, दिनांक: 4 (फाल्गुन), हिजरी साल: 1439, महीना: जमादि-उल्सानी, तारीख: 6, सूर्योदय: 7.06 बजे, सूर्यास्त: 6.17 बजे (जालंधर समय), नक्षत्र: कृतिका (दोपहर 12.43 तक), योग: वैधृति (23-24 मध्य... आगे पढ़े

ज्ञान के बल पर हर तरह की संपन्नता को सरलता से प्राप्त किया जा सकता

Updated on 22 February, 2018, 7:00
प्राचीन समय की बात है महर्षि आयोदधौम्य अपनी तपस्या और उदारता के लिए बेहद प्रसिद्ध थे। वे वैसे तो बाहर से अनुशासनप्रिय एवंं अति कठोर थे, परंतु भीतर से अपने शिष्यों के प्रति असीम स्नेह रखते थे। उनका मक्सद अपने शिष्यों का सुयोग्य बनाना था, जिसके के कारण वह उनके... आगे पढ़े

माता-पिता, गुरु एवं श्रेष्ठजनों के प्रति कर्तव्य

Updated on 21 February, 2018, 9:00
हमारे धर्म शास्त्रों में मनुस्मृति का स्थान सबसे महत्वपूर्ण है और इसके रचयिता राजर्षि मनु के विचार सर्वमान्य हैं। माता-पिता, गुरुजनों एवं श्रेष्ठजनों को सर्वदा प्रणाम, सम्मान और सेवा करने के संबंध में मनुस्मृति का (2/121) का यह श्लोक अनुकरणीय है- अभिवादनशीलस्य नित्यं वृद्धोपसेविन:।  चत्वारि तस्य वद्र्धन्ते आयुॢवद्या यशोवलम्।।  अर्थात: वृद्धजनों (माता-पिता, गुरुजनों... आगे पढ़े

कान्हा की नगरी मथुरा-वृंदावन में कुछ इस तरह मनाई जाती है होली

Updated on 21 February, 2018, 7:20
2 मार्च को पूरे देश में होली का त्यौहार मनाया जाएगा। देश भर में होली का उत्सव बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। लेकिन कान्हा कि नगरी में बसंत पंचमी से ही होली का महोत्सव शुरू हो जाता है। इस वर्ष भी 22 जनवरी से ही यहां होली... आगे पढ़े

श्रीमद्‍भगवद्‍गीता: बात-बात पर तनाव को स्वयं पर न होने दें हावी

Updated on 20 February, 2018, 7:40
प्रसादे सर्वदु:खानां हानिरस्योपचायते। प्रसन्नचेतसो ह्याशु बुद्धि: पर्यवतिष्ठते।। गीता 2/65 प्रसादे, सर्वदु:खानाम्, हानि, अस्य, उपजायते, प्रसन्नचेतस: हि, आशु, बुद्धि:, पर्यवतिष्ठते।। भावार्थ: मन शांत और प्रसन्न रहे। जल्दी से परेशान होने का स्वभाव नहीं। मानसिक प्रसन्नता में अनेक प्रकार के दुखों की हानि स्वाभाविक होने लगती है तथा बुद्धि भी स्थिर रहती है।  अंत: करण की प्रसन्नता... आगे पढ़े

कब मनुष्य होता है जन्म-मरण के बंधन से मुक्त?

Updated on 19 February, 2018, 8:00
योगगुरु सुरक्षित गोस्वामी  यत्र काले त्वनावृत्तिमावृत्तिं चैव योगिन:|  प्रयाता यान्ति तं कालं वक्ष्यामि भरतर्षभ|| गीता 8/23||  अर्थ: हे भरत श्रेष्ठ! जिस काल में प्रयाण करने वाले योगीजन वापस नहीं आते और जिसमें वापस आते हैं, उन दोनों काल के बारे में बताता हूं।  व्याख्या: सभी प्राणी अपने कर्मों के हिसाब से जन्म-मरण भोगते रहते... आगे पढ़े

तुलसी व रुद्राक्ष की माला पहनकर यहां व्रत करने वाले की हर मनोकामना होती है पूरी

Updated on 19 February, 2018, 7:00
केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम से 175 कि.मी दूरी पर पंपा, से चार कि.मी की दूरी पर पश्चिम घाट से सह्यपर्वत श्रृंखलाओं के घने वनों के बीच, समुद्रतल से लगभग 1000 मीटर की ऊंचाई पर सबरीमाला मंदिर स्थित है। मक्का-मदीना के बाद यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा तीर्थ माना जाता... आगे पढ़े

सूर्य ग्रहण हुआ खत्म, जरूर करें ये 5 काम!

Updated on 16 February, 2018, 5:30
ज्योतिष में ग्रहण का विशेष महत्व माना गया है. साल का पहला सूर्यग्रहण 16 फरवरी को लगा. भारतीय समय के अनुसार यह रात्रि 00.25 से 04.17 तक रहा. इस ग्रहण की कुल अवधि लगभग 03 घंटे 52 मिनट थी.  ज्योतिष में ग्रहण को अशुभ और हानिकारक प्रभाव वाला माना जाता... आगे पढ़े

आज रात लगेगा सूर्य पर ग्रहण, इन राशियों को होगा लाभ ही लाभ

Updated on 15 February, 2018, 21:00
साल 2018 में कुल तीन सूर्य ग्रहण घटित होंगे. ये तीनों आंशिक सूर्य ग्रहण होंगे. भारत में ये तीनों ग्रहण दिखाई नहीं देंगे लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि आप पर इस ग्रहण का प्रभाव नहीं पड़ेगा. ये तीनों सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, अटलांटिक और अंटार्कटिका के क्षेत्रों में... आगे पढ़े

उन्हें था कृष्ण भक्ति का घमंड, गरीब ने यूं उतार दिया

Updated on 15 February, 2018, 8:20
महाभारत द्वेष, ईर्ष्या, अहंकार, अपमान और बदले की आग में सब कुछ भस्म कर देने वाला, साथ ही दर्द और दुख के समुंदर की कथा है तो मान-सम्मान, स्वाभिमान और जीवन को जीने की कला देने वाला एक अद्भुत कथानक भी है। हस्तिनापुर और इंद्रप्रस्थ के महापुरूषों को राजकुल में पले-बढ़े... आगे पढ़े