वास्तु विज्ञान के अनुसार भगवान की मूर्तियां या तस्वीर यदि घर में हों तो उन्हें स्थापित करने से लेकर उनकी देखभाल करने के सभी नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य है। और अगर कोई व्यक्ति ऐसा ना करे तो इसका उसपर और उसके परिवार पर नकारात्मक प्रभाव होता है। यही नहीं जिस व्यक्ति ने इसे गिफ्ट में दिया है उसके ऊपर भी बुरा असर पड़ सकता है। लेकिन अगर आपको लगता है कि सामने वाला व्यक्ति आपके द्वारा दिए गए भगवान की देखभाल करने में सक्षम है तो निश्चित ही आप उसे ये गिफ्ट के रूप में दे सकते हैं। इसके अलाना वास्तु शास्त्र में गिफ्ट्स को लेकर क्या जानकारी दी है, आइए जानते हैं

रूमाल-
रुमाल देना या लेना या किसी का रुमाल इस्तेमाल करके अपने पास ही रख लेना, इन सभी परिस्थितियों का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। फेंगशुई के अनुसार अगर रुमाल गिफ्ट में दिया जाए तो देने वाले और लेने वाले दोनों पर इसका बुरा असर होता है और गिफ्ट में कभी किसी को काले रंग के कपड़े नहीं देने चाहिए। इसे पीड़ादायक और मृत्युकारक माना जाता है।

घड़ी-
उपहार में घड़ी लेना-देना भी शुभ नहीं माना जाता है। इसे प्रगति को रोकना माना जाता है। यही नहीं किसी को जूते उपहार देना या किसी से उपहार में जूते मिलना भी शुभ नहीं माना जाता। ये जुदाई का प्रतीक माना गया है। प्रेमी तो बिल्कुल भी अपने पार्टनर को जूते उपहार में न दें। अगर आप ये उपहार देते हैं तो उनके और आपके रास्ते अलग हो सकते हैं।

कारोबार से जुड़ी वस्तु-
अक्सर लोग कारोबार से जुड़ी वस्तुएं दोस्तों के साथ या अपने क्लाइंट को गिफ्ट कर देते हैं, लेकिन वास्तु विज्ञान के अनुसार ऐसा करके आप अपने बिजनेस की समृद्धि किसी और को दे देते हैं। इसलिए ऐसा करने से बचें।

नुकीली चीज़ें गिफ्ट देना-
नुकीली चीजों को नकारात्मक प्रभाव वाला माना जाता है। चाकू या कैंची जैसी नुकीली वस्तुएं जब भी अग्नि तत्व (रसोई घर) से बाहर आती हैं तो ये उस विशेष स्थान पर अपना नकारात्मक प्रभाव बनाती हैं। और ऐसी चीज को गिफ्ट करना अशुभ माना गया है।