नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) के तहत केंद्र सरकार किसानों को हर साल 6,000 रुपये मुहैया कराती है. केंद्र सरकार इस योजना के जरिये किसानों (Farmers) की आर्थिक मदद करने और उनकर आय दोगुनी (Double Income) करना चाहती है. योजना के तहत केंद्र सरकार सीधे किसानों के बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर (DBT) करती है. सरकार किसानों को ये 6,000 रुपये सालभर में 3 किस्तों (Installments) में देती है यानी हर 4 महीने में 2,000 रुपये की एक किस्त उनके बैंक खातों में पहुंचती है. मोदी सरकार अब तक किसानों को 6 किस्तों में पैसे दे चुकी है. इसकी 7वीं किस्त आनी शुरू हो गई है.

राज्‍य के भूमिहीन किसानों को मिलेगा फायदा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने असम (Assam) में लोगों को भूमि आवंटन पत्र बांटने के दौरान कहा कि असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) मूल निवासियों की जमीन, भाषा और संस्कृति की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं. पीएम मोदी ने शिवसागर जिले के जेरेंगा पठार में रहने वाले भूमिहीन मूल निवासियों के लिए 1.6 लाख भूमि पट्टे बांटे हैं. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि अब इनको केंद्र और राज्य सरकार की दूसरी योजनाओं का लाभ भी मिलना शुरू हो जाएगा. उन्‍होंने बताया कि अब असम किसानों को भी प्रधामंत्री किसान सम्मान निधि, क्रेडिट कार्ड (Credit Card) और फसल बीमा (Crop Insurance) समेत दूसरी योजनाओं का लाभ मिल सकेगा.

सीधे किसानों के अकाउंट में भेजे जाते हैं पैसे

पीएम किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को ऑनलाइन अप्लाई (Online Apply) करना होता है. इसके बाद उस एप्लीकेशन को राज्य सरकार (State Government) किसान के रेवेन्यू रिकॉर्ड, आधार नंबर (Aadhaar Number) और बैंक अकाउंट नंबर का वेरिफिकेशन करती है. राज्य सरकार जब तक आपके अकाउंट को वेरिफाई नहीं करती, तब तक पीएम किसान सम्‍मान निधि योजना की रकम किसान के बैंक अकाउंट में नहीं भेजे जाते हैं. राज्य सरकार की ओर से वेरिफाई करने के बाद एफटीओ (FTO) जेनरेट हो जाता है. इसके बाद केंद्र सरकार किसान के बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर देती है.