मानव अधिकार दिवस अवसर पर विधिक सहायता 

व साक्षरता शिविर आयोजन 

समीरा संवेदना समिति संस्था द्वारा मानव अधिकार दिवस के अवसर पर दिनांक 10 दिसंबर 2015 'जिला विधिक सेवा प्राधिकरण भोपालÓ के तत्वावधन में 'ग्राम पंचायतÓ मेडोरा में जन-जागरण शिविर का आयोजन किया गया। सरपंज की उपस्थिति में मानव अधिकार विषय पर शिविर का आयोजन किया गया। संस्था की अध्यक्ष श्रीमती मीरा सिंह के साथ समिति सदस्य श्रीमती सुशीला गोयल, सुश्री संगीता मोहरिर्र, सुश्री सुषमा अग्रवाल, ममता तिवारी ने शिविर में हिस्सा लिया। 

शिविर में पांचवीं से आठवीं कक्षा तके विद्यार्थियों, लड़कियों, ग्रहिणियों एवं पुरुषों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। सर्व प्रथम उन्हें मानव अधिकार से अवगत कराया गया। वहीं उपस्थित जन समूह को हमारी संस्था की सदस्य अधिवक्ता. सुश्री सुशीला गोयल व अधि. संगीता मोहर्रिर द्वारा बाल अधिकारों की जानकारी दी गई। तत्पश्चात् वंचित अधिकरों के बारे में चर्चा हुई अपनी समस्याओं व उपस्थिति को सभी ने फार्म में दस्तखत करके जाहिर किया। कार्यक्रम के अंत में 'लोक अदालतÓ (12 दिसंबर) की जानकरी दी गई व प्रचार-प्रसार के लिए पर्चे बांटे और संस्था की सदस्य सुश्री संगीता मोहर्रिर ने लोक अदालत के नामांकन के लिए जानकारी देकर मदद का आश्वासन भी दिया। कार्यक्रम से संबंधित तस्वीरे, वीडियो  में किशोरी अनुराधा विश्वकर्मा द्वारा गांव में महिलाओं की स्थिति व दशा को बयां इन शब्दों किया  'महिलाओं को समाज लोग पैरों जूती समझते है एवं महिलाओं पढऩे-लिखने का भी अधिकारी होना चाहिए एवं शराब की दुकाने भी बंद करा देना चाहिए और महिलाओं को हर काम करने का अधिकार होना चाहिएÓ।  फाम्र्स संलग्न है तथा समस्याओं की सूची भी आगामी शिविर के लिए गांव वासियों को आश्वस्त किया गया जो समाधान के इच्छुक है।