हमेशा यह याद रखें कि छोटी आंखों पर लाइट कलर के आई शैडो और बड़ी आंखों पर नॉर्मल आई लाइनर लगाएं। बड़ी आंखों पर लाइट शैडो इस्तेमाल करें, क्योंकि यह आंखों को और बड़ा दिखाता है। शैडो अप्लाई करने वाला और ब्लेंड करने वाला ब्रश अलग-अलग होना चाहिए। कभी-कभी ओवर ब्लेंडिंग भी हो जाती है। इसलिए साफ ब्रश में एक बार कलर लेकर अच्छी तरह से ब्लेंड करना भूलें।

आईब्रो को नजरअंदाज करना

आंखें तभी सुंदर दिखेंगी, जब आंखों के साथ-साथ आईब्रोज पर भी थोड़ा टचअप किया जाए। आईब्रो की सेटिंग करने के बाद आईब्रो पेंसिल या आईब्रो फिलर लगाएं। आईब्रो पर फिक्सर का इस्तेमाल इसकी फिनिशिंग के लिए किया जाता है। इससे आई मेकअप ज्यादा देर तक टिका रहता है।

मेकअप चमकदार दिखना

सही ढंग से मेकअप किया गया हो तो ऐसा हो ही जाता है। मेकअप कलर्स यूज करने के लिए स्किन टोन से मैच करता कलर लें। फाउंडेशन भी आपके टोन से मैच करता होना चाहिए। कॉम्पैक्ट का इस्तेमाल ज्यादा करें। अगर यह एक्स्ट्रा लग गया हो तो ब्लशर से निकालने की कोशिश करें। इसके बाद पाउडर का इस्तेमाल करें।

खास मौकों पर ग्लिटर

ग्लिटर का इस्तेमाल हलका सा टचअप करने के लिए सही है। इसका ज्यादा इस्तेमाल भड़कीला लग सकता है। इससे आंखों के आसपास झुर्रियां दिखने लगती हैं। टचअप देना चाहती हैं तो आंखों पर इसे अंगुलियों से एक जगह फैलाते हुए लगाएं। मैट ग्लिटर शैडो को चुनें, जो आपकी स्किन टोन को कॉम्पि्लमेंट करता हुआ होना चाहिए। गर्मियों में ग्लिटर का इस्तेमाल करने से बचें।

मस्कारा का इस्तेमाल

मस्कारा वॉटर प्रूफ है तो कॉटन बड या मेकअप रिमूवर से इसे निकाला जा सकता है। इसे हलके हाथों से साफ करें। सूखने के बाद इस पर मेकअप बेस लगाकर सेट करें। मस्कारा वॉटर प्रूफ हो तो इसे पानी से साफ करें। मेकअप बेस या कॉम्पैक्ट लगाना भूलें। गर्दन और हाथों का रंगचेहरे की रंगत के साथ गर्दन और बांहों का रंग मेल कराना चाहती हैं तो ब्रांजर को फोरहेड, नोज, चीक बोंस और जॉ लाइन से गर्दन तक फैलाएं। ध्यान रखें कि ब्रांजर आपकी स्किन टोन से दो शेड गहरा होना चाहिए। यह तभी अच्छा लगेगा।