सूरज की अल्ट्रावॉयलेंट किरणों की वजह से गर्मी में मौसम में टैनिंग, सनबर्न, स्किन ड्राईनेस, पिंपल्स, ब्लैकहैड्स की समस्या आम हो जाती है। ऐसे में त्वचा की डेड स्किन को हटाने के लिए एक्सफोलिएशन यानि स्क्रबिंग जरूर हो जाती है। यूं तो मार्केट में बहुत से स्क्रब मिल जाएंगे लेकिन हम आपको घर पर ही तीन चीजों से स्क्रब बनाना सिखाएंगे। इससे स्किन भी ग्लो करेगी और आपको ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं करने पड़ेंगे।

क्यों जरूरी गर्मियों में स्क्रब करना?

इस मौसम में सूरज की हानिकारक किरणें त्वचा की नमी छीन लेती है। वहीं, दिनभर की धूल-मिट्टी प्रदूषण त्वचा को डल दिखाते हैं। इसके कारण धीरे-धीरे त्वचा की रंगत काली होती जाती है। मगर, स्क्रबिंग त्वचा की गहराई से जाकर गंदगी और धूल-मिट्टी को बाहर निकालता है, साथ ही इससे डेड स्किन भी निकल जाती है, जिससे स्किन ग्लो करने लगती है। वहीं त्वचा को हाइड्रेट और नमीयुक्त रखने के लिए भी स्क्रब करना बहुत जरूरी है।

चलिए आपको बताते हैं होममेड स्क्रब बनाने का तरीका जो हर किसी के स्किन पर सूट करेगा। वहीं, इसमें नेचुरल सामग्री का यूज किया गया है इसलिए इससे स्किन को कोई नुकसान भी नहीं होगा।

 

इसके लिए आपको चाहिए:

चावल का आटा - 1 चम्मच
एलोवेरा जेल - 1/2 चम्मच
शहद - थोड़ा-सा

पैक बनाने लगाने का तरीका

सबसे पहले सारी सामग्री को एक बाउल में मिक्स कर लें। इसके बाद चेहरे को क्लीजिंग मिल्क , गुलाबजल या ठंडे दूध से अच्छी तरह साफ कर लें। इसके बाद पैक से चेहरे पर धीरे-धीरे सर्कुलेशन मोशन में स्क्रब करें। 15 मिनट चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। हफ्ते में कम से कम 2-3 बार इस स्क्रब का इस्तेमाल करें।

 

कितनी बार करना चाहिए स्क्रब?

एक्सपर्ट की मानें तो हफ्ते में कम से कम 1-2 बार ही स्क्रब करना चाहिए लेकिन अगर आप होममेड स्क्रब का इस्तेमाल कर रही हैं तो हफ्ते में 3 से 4 बार यूज कर सकते हैं। ऐसा इसलिए चूंकि घरेलू सामग्री से स्किन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा लेकिन अगर आपको कोई सामग्री सूट नहीं करती तो उसे त्वचा पर ना लगाएं।

रेगुलर स्क्रब करने से त्वचा को मिलेंगे की फायदे

- नियमित स्क्रबिंग से सिर्फ डेड स्किन ही साफ नहीं होती बल्कि ओपन पोर्स भी क्लीन रहते हैं। इससे स्किन इंफेक्शन का खतरा कम होता है।
- स्क्रबिंग करते समय जब आप हाथों को चेहरे परप सर्कुलेशन मोशन में घुमाती है तो उससे चेहरे की मांसपेशियों की मसाज हो जाती है।
- इससे त्वचा में ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है और उसे पोषण भी मिलता है। इससे स्किन ज्यादा ग्लो करनी लगती है।
- एक्सफोलिएट से त्वचा रेडिएंट और रिजुवेनेटिंग होती है, जिससे डलनेस खत्म हो जाती है।
- इससे त्वचा में मॉइश्चराइजर का अब्जोर्ब्शन अच्छी तरह हो पाता है, जिससे स्किन ग्लो करने लगती है।

याद रखें ये बातें

ध्यान रखें कि अगर आप बाजार से स्क्रब खरीद रहे हैं तो अपनी स्किन टाइप के हिसाब से ही उसका चुनाव करें। इसके अलावा ड्राई स्किन पर सीधे स्क्रब ना लगाएं क्योंकि इससे त्वचा ज्यादा रूखी हो जाएगी। साथ ही इससे त्वचा छिलने, रैडनेस का डर भी रहता है।