प्रतिमाह शुक्ल पक्ष में आने वाली चतुर्थी को विनायकी चतुर्थी कहते हैं। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायकी तथा कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को संकष्टी गणेश चतुर्थी कहते हैं।

इस दिन विधि-विधान से श्री गणेश का पूजन करने से वे अत्‍यंत प्रसन होते हैं। श्री गणेश के इन मंत्रों से जीवन की हर समस्या का समाधान किया जा सकता है।

यहां पढ़ें खास मंत्र और करें हर परेशानी दूर- Ganesha Mantra

1. 'ॐ वक्रतुण्डाय हुं।'

2.ॐ गं गणपतये नम:।'

3. 'ॐ मेघोत्काय स्वाहा।'

4. 'ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं में वशमानय स्वाहा'

5. 'ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं क्लीं क्लीं गण‍पति वर वरद सर्व लोकं में वशमानय स्वाहा।'

6. 'ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं गं गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।'

7. 'ॐ नमो हेरम्ब मद मोहित मम् संकटान निवारय-निवारय स्वाहा।'

8. 'ॐ गं हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा।'